निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi

बीटीसी एवं सुपरटेट की परीक्षा में शामिल शिक्षण कौशल के विषय शैक्षिक मूल्यांकन क्रियात्मक शोध एवं नवाचार में सम्मिलित चैप्टर निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi आज हमारी वेबसाइट hindiamrit.com का टॉपिक हैं।

निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi

निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi
निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi


Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi |निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर

Tags  – उपलब्धि परीक्षण और निदानात्मक परीक्षण में अंतर,उपलब्धि परीक्षण और नैदानिक परीक्षण के बीच का अंतर,निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi

निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi

निदानात्मक परीक्षण, उपलब्धि परीक्षण का ही एक अंग है इसलिए उपलब्धि परीक्षणों तथा निदानात्मक परीक्षणों में अन्तर करना कठिन है। निदानात्मक परीक्षणों का निर्माण शैक्षिक उद्देश्यों को ध्यान में रखकर किया जाता है। अत: निदानात्मक परीक्षण और उपलब्धि परीक्षण के स्वरूप में अन्तर दृष्टिगोचर होता है। परीक्षण के विषय विस्तार, उद्देश्य, उपयोगिता आदि के आधार पर निदानात्मक और उपलब्धि परीक्षणों में निम्न अन्तर है-

क्र०सं०
निदानात्मक परीक्षण
(Diagnostic Test)
उपलब्धि परीक्षण (Achievement Test)
1निदानात्मक परीक्षण का क्षेत्र सीमित होता है।उपलब्धि परीक्षण का क्षेत्र काफी विस्तृत होता है।
2निदानात्मक परीक्षणों के द्वारा उन कारणों का पता लगाया जाता है,जिनके कारण छात्र को कक्षा में
किसी विषय-सामग्री को सीखने में कठिनाई हो रही है।
उपलब्धि परीक्षण द्वारा किसी विषय या कई विषयों में छात्र की सामान्य योग्यता का ज्ञान प्राप्त होता है।
3निदानात्मक परीक्षण ज्ञान की अपेक्षा कौशल के अर्जन व विकास की दिशा की विशिष्ट रूप में परख करता है।उपलब्धि परीक्षण ज्ञान के साथ-साथ कौशल के अर्जन की मात्रा का भी मापन करता है।
4निदानात्मक परीक्षण बाल केन्द्रित मौलिक कौशल परीक्षण है।उपलब्धि परीक्षण छात्र की सामान्य उपलब्धि का परिचायक है।
5निदानात्मक परीक्षणों के परीक्षण पदों का निर्माण करते समय छात्रों द्वारा की जाने वाली सामान्य एवं विशिष्ट त्रुटियों एवं कमियों को एकत्रित करना होगा।उपलब्धि परीक्षण का निर्माण करते समय परीक्षण पदों का चयन उस विषय की सम्पूर्ण पाठ्य-सामग्री से सामान्य रूप से किया जाता है।
6निदानात्मक परीक्षण केवल ठीक प्रकार से प्रगति न करने वाले कमजोर छात्रों की कमजोरियों का पता लगाने के लिए बनाये जाते हैं।उपलब्धि परीक्षण सभी स्तर के छात्रों की उपलब्धि के मापन एवं उनके भेद करने के लिए निर्मित किए जाते हैं।
7निदानात्मक परीक्षणों का उद्देश्य वैयक्तिक एवं स्थानीय होता है,इसलिए इनके प्रतिमानों का निर्धारण राष्ट्रीय स्तर पर नहीं किया जाता है।उपलब्धि परीक्षण में कई प्रकार के प्रतिमान का निर्धारण राष्ट्रीय स्तर पर किया जाता है।
8निदानात्मक परीक्षणों में एक विषय या अनेक विषयों के अर्जन में छात्र
की कठिनाई एवं कमी को मापने का प्रयास किया जाता है।
उपलब्धि परीक्षणों के द्वारा विषय- सामग्री कितनी अर्जित की गयी है इसका मापन किया जाता है।
9निदानात्मक परीक्षण छात्र की विषय में कमजोरी या सीखने सम्बन्धी कठिनाईयों के बारे में जानकारी प्रदान करता है।उपलब्धि परीक्षण किसी विद्यार्थी की किसी विषय में सापेक्षित स्थिति को एक प्राप्तांक द्वारा व्यक्त करता है।
10निदानात्मक परीक्षण का प्रशासन शिक्षण पूर्व, शिक्षण करते समय
तथा अन्त में छात्र की स्थिति का पता लगाने के लिए किया जाता है।
उपलब्धि परीक्षण का प्रशासन शिक्षणोपरान्त छात्र की उपलब्धि की जाँच के लिए किया जाता है।

आपके लिए महत्वपूर्ण लिंक

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण हिंदी कोर्स

ये भी पढ़ें-  जनसंख्या शिक्षा का अर्थ एवं परिभाषा | जनसंख्या शिक्षा के उद्देश्य,आवश्यकता,महत्व

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण बाल मनोविज्ञान कोर्स

50 मुख्य टॉपिक पर  निबंध पढ़िए

Final word

आपको यह टॉपिक कैसा लगा हमे कॉमेंट करके जरूर बताइए । और इस टॉपिक निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi को अपने मित्रों के साथ शेयर भी कीजिये ।

Tags – उपलब्धि परीक्षण और निदानात्मक परीक्षण में अंतर,उपलब्धि परीक्षण और नैदानिक परीक्षण के बीच का अंतर,निदानात्मक एवं उपलब्धि परीक्षण के अन्तर | Difference between Diagnostic and Achievement Test in hindi

Leave a Comment