स्वपरागण और परपरागण में अंतर || difference between self pollination and cross pollination

दोस्तों हम आज आपको जीव विज्ञान का सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक स्वपरागण और परपरागण में अंतर बताएंगे।

साथ ही साथ Hindiamrit पौधे एवं उनकी क्रियाये के अन्तर्गत आपको परागण किसे कहते हैं,परागण के प्रकार,स्वपरागण किन पौधों में होता है,परपरागण किन पौधों में होता है,आदि सारी बातों की जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

स्वपरागण और परपरागण में अंतर

परागण किसे कहते हैं || what is pollination

परागकोषों में परागकण बनने के बाद आवश्यक है कि परागकण नर केंद्रक मादा युग्मक अंड तक पहुंचे।

पुष्प के परागकोष से परागकणों के उसी पुष्प अथवा दूसरे पौधे के किसी पुष्प के वर्तिकाग्र पर पहुंचने की क्रिया को परागण कहते हैं।

परागण के प्रकार || types of pollination

इसके दो प्रकार होते हैं-

(1) स्वपरागण (self pollination)

(2) परपरागण (cross pollination)

स्वपरागण के लाभ,स्वपरागण किसे कहते हैं,स्वपरागण पर परागण में अंतर,स्वपरागण पर परागण में अंतर बताइए,स्वपरागण तथा पर परागण में अंतर,स्वपरागण की परिभाषा,पर परागण के लाभ,
 पर परागण के प्रकार,पर परागण की परिभाषा,पर परागण के दो लाभ बताइए,स्व परागण और पर परागण में अंतर,परागण और निषेचन में अंतर,difference between self pollination and cross pollination,निषेचन किसे कहते हैं,निषेचन कैसे होता है,निषेचन कहाँ होता है,निषेचन के बाद लक्षण,निषेचन की परिभाषा,निषेचन वीडियो,पौधों में निषेचन,निषेचन in plants,पौधों में निषेचन की परिभाषा,साल्विया में परागण,साल्विया में कीट परागण,परागण की विधियां,वायु द्वारा परागण किन पौधों में होता है,कीट द्वारा परागण किन पौधों में होता है,चिड़ियों द्वारा परागण,परपरागण की विधियां,परपरागण किसके किसके द्वारा होता है,what is self pollination, what is cross pollination,what is fertilisation,
परागण और निषेचन में अंतर,पर परागण के लाभ,
पर परागण के प्रकार,पर परागण की परिभाषा,पर परागण के दो लाभ बताइए,स्व परागण और पर परागण में अंतर,

स्वपरागण (self pollination)

जिसमें एक पुष्प के परागकण उसी पुष्प के या उसी पौधे के अन्य पुष्प के वर्तिकाग्र पर पहुंचते हैं,स्वपरागण कहलाता है।

स्वपरागण किन पौधों में होता है

(1) सदाबहार

(2) पैंजी

(3) गुलमेंहदी

(4) मूंगफली

(5) खट्टी बूटी

परपरागण किसे कहते है || what is cross pollination

इसमें एक पुष्प के परागकण उसी जाति के किसी दूसरे पौधे पर लगे पुष्प के वर्तिकाग्र पर पहुंचते हैं,परपरागण कहलाता है।

ये भी पढ़ें-  मृदूतक और स्थूलकोण ऊतक में अंतर || difference between parenchyma and collenchyma

इसके लिए पराग कणों को अन्य पुष्पों पर पहुंचाने के लिए किसी न किसी साधन की आवश्यकता होती है।

जैसे-कीट,वायु, जल, पक्षी अथवा जंतु।

परपरागण किन पौधों में होता है

(1) कीट द्वारा- सूरजमुखी,गेंदा,साल्विया में

(2) वायु द्वारा- मक्का,गेहूँ,धान,घास में

(3) गिलहरी व चिड़ियों द्वारा- आम,बबूल,सेमल में

(4) चमगादड़ द्वारा- कदम और कचनार में

(5) घोंघों द्वारा- ऑर्किड्स में

स्वपरागण के लाभ,स्वपरागण किसे कहते हैं,स्वपरागण पर परागण में अंतर,स्वपरागण पर परागण में अंतर बताइए,स्वपरागण तथा पर परागण में अंतर,स्वपरागण की परिभाषा,पर परागण के लाभ,
 पर परागण के प्रकार,पर परागण की परिभाषा,पर परागण के दो लाभ बताइए,स्व परागण और पर परागण में अंतर,परागण और निषेचन में अंतर,difference between self pollination and cross pollination,निषेचन किसे कहते हैं,निषेचन कैसे होता है,निषेचन कहाँ होता है,निषेचन के बाद लक्षण,निषेचन की परिभाषा,निषेचन वीडियो,पौधों में निषेचन,निषेचन in plants,पौधों में निषेचन की परिभाषा,साल्विया में परागण,साल्विया में कीट परागण,परागण की विधियां,वायु द्वारा परागण किन पौधों में होता है,कीट द्वारा परागण किन पौधों में होता है,चिड़ियों द्वारा परागण,परपरागण की विधियां,परपरागण किसके किसके द्वारा होता है,what is self pollination, what is cross pollination,what is fertilisation,
difference between self pollination and cross pollination,स्वपरागण के लाभ,स्वपरागण किसे कहते हैं,पर परागण के प्रकार,पर परागण की परिभाषा,पर परागण के दो लाभ बताइए,स्व परागण और पर परागण में अंतर,परागण और निषेचन में अंतर,

स्वपरागण और परपरागण में अंतर || difference between self pollination and cross pollination

स्वपरागण(self pollination)परपरागण(cross pollination)
एक ही पुष्प में या एक ही पौधे के दो पुष्पों के बीच होता है। दो अलग अलग पौधों पर लगे फूलों के बीच होता है।
किसी बाह्य साधन की आवश्यकता नही होती।परागकणों के दूसरे फूल पर पहुँचने के लिए वायु,जल,कीट या जन्तु की आवश्यकता होती है।
इसके लिए एक पुष्प के पुमंग तथा जायांग एक साथ परिपक्व होते है।एक ही पुष्प के पुमंग व जायांग अलग अलग समय पर परिपक्व होते है ताकि स्वपरागण न हो सके।
स्वपरागण वाले पुष्प छोटे तथा कम आकर्षक होते हैं और इनमें मकरंद नही होता है।परपरागण वाले पुष्प चटकीले रंग के होते है और उनमें मकरंद होता है।

हमारे चैनल को सब्सक्राइब करके हमसे जुड़िये और पढ़िये नीचे दी गयी लिंक को टच करके विजिट कीजिये ।

https://www.youtube.com/channel/UCybBX_v6s9-o8-3CItfA7Vg

उपयोगी लिंक

परागण और निषेचन में अंतर

लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर

एकबीजपत्री और द्विबीजपत्री में अंतर

आवृतबीजी और अनावृतबीजी में अंतर

प्रेरणादायक कहानी पढ़िये

दोस्तों आपको यह आर्टिकल स्वपरागण और परपरागण में अंतर कैसा लगा हमें कॉमेंट करके जरूर बताये तथा इसे शेयर करके अपने दोस्तों को भी पढ़ाये।

ये भी पढ़ें-  उष्मीय वियोजन तथा उष्मीय अपघटन में अंतर | वियोजन तथा अपघटन में अंतर

Tags- स्वपरागण के लाभ,स्वपरागण किसे कहते हैं,स्वपरागण पर परागण में अंतर,स्वपरागण पर परागण में अंतर बताइए,स्वपरागण तथा पर परागण में अंतर,स्वपरागण की परिभाषा,पर परागण के लाभ,पर परागण के प्रकार,पर परागण की परिभाषा,पर परागण के दो लाभ बताइए,स्व परागण और पर परागण में अंतर,परागण और निषेचन में अंतर,difference between self pollination and cross pollination,निषेचन किसे कहते हैं,निषेचन कैसे होता है,निषेचन कहाँ होता है,निषेचन के बाद लक्षण,निषेचन की परिभाषा,निषेचन वीडियो,पौधों में निषेचन,निषेचन in plants,पौधों में निषेचन की परिभाषा,साल्विया में परागण,साल्विया में कीट परागण,परागण की विधियां,वायु द्वारा परागण किन पौधों में होता है,कीट द्वारा परागण किन पौधों में होता है,चिड़ियों द्वारा परागण,परपरागण की विधियां,परपरागण किसके किसके द्वारा होता है,what is self pollination, what is cross pollination,what is fertilisation,

2 thoughts on “स्वपरागण और परपरागण में अंतर || difference between self pollination and cross pollination”

Leave a Comment