लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर || difference between sexual and asexual reproduction

दोस्तों हम आज आपको जीव विज्ञान का सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर बताएंगे।

साथ ही साथ Hindiamrit पौधे एवं उनकी क्रियाये के अन्तर्गत आपको लैंगिक जनन किसे कहते हैं,अलैंगिक जनन किसे कहते हैं,अलैंगिक जनन की विधियां,कायिक जनन,कायिक जनन की विधियां,अलैंगिक जनन के प्रकार,पादपों में जनन,पादपों में लैंगिक जनन,पादपों में अलैंगिक जनन,आदि सारी बातों की जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

हम लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर 2 तरीके से समझ सकते हैं। पहला तरीका है कि हम इनकी परिभाषाएं वाइन के बारे में जानकर इन में अंतर स्पष्ट कर पाए तथा दूसरा तरीका है कि हम टेबल के माध्यम से अंतर देख सकें हम आपको दोनों तरीकों से समझाने का पूर्ण प्रयास करेंगे।

लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर

पौधों में जनन की विधियों को दो श्रेणियों में बांटा जा सकता है-

(1) लैंगिक जनन (sexual reproduction)

(2) अलैंगिक जनन (asexual reproduction)

पादपों में लैंगिक व अलैंगिक जनन || sexual and asexual reproduction in plants

alaingik janan,युग्मनज क्या है,पुष्पी पादपों में जनन,जीवों में जनन pdf,मानव जनन video,आवृतबीजी पादपों में जनन,अंडजनन क्या है,मानव जनन कैसे करता है।,जंतुओं में जनन,वर्धी प्रजनन क्या है,अनिषेक जनन की परिभाषा,प्रजनन कितने प्रकार के होते हैं,वर्धी प्रजनन के उदाहरण,पौधों में प्रजनन एवं उनके प्रकार,बैक्टीरिया में प्रजनन के प्रकार,प्रजनन से आप क्या समझते हैं,प्रजनन की परिभाषा क्या है,आवृतबीजी पादपों में जनन,शुक्र जनन क्या है,हिंदी में gametogenesis परिभाषा,कायिक प्रवर्धन के लाभ,लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर, difference between sexual and asexual reproduction,
प्रजनन एवं प्रजनन के प्रकार, types of reproduction,

पादपों में अलैंगिक जनन || asexual reproduction in plants

पौधों में अलैंगिक जनन की निम्न विधियां पाई जाती हैं-

ये भी पढ़ें-  श्वसन और श्वासोच्छवास में अंतर || difference between respiration and breathing

(1) विखंडन (fission)

यह एक कोशिकीय जीवों में पाया जाता है।

जीवाणुओं व प्रोटोजोआ (अमीबा, यूग्लीना) में विखंडन द्वारा जनन होता है।

(2) बीजाणु निर्माण (spore formation)

कवक और शैवाल में बीजाणु निर्माण द्वारा जनन होता है।

(3) कलिकोत्पादन (budding)

यीस्ट में कलिकोत्पादन द्वारा जनन होता है।

(4) खंडन (fragmentation)

स्पाइरोगाइरा में खंडन द्वारा जनन होता है।

(5) कायिक जनन /वर्धी जनन (vegetative propagation)

कायिक जनन की निम्न विधियां हैं-

(a) जड़ो द्वारा –डहेलिया,सतावर और शकरकंद में

(b) तनों द्वारा- अदरक,हल्दी,आलू,अरबी,प्याज,लहसुन के भूमिगत तनों,दूबघास,पुदीना आदि के अर्धवाहवीय तनों द्वारा,गन्ना,अमरबेल के वायवीय तनों द्वारा नए पौधे बनाये जाते है।

(c) पत्तियों द्वारा-बिगनोनिया में

(d) पत्र प्रकालिकाओं द्वारा

(6) कृत्रिम कायिक जनन

अच्छी किस्म के पौधे प्राप्त करने के लिए वैज्ञानिक कटिंग, लेयरिंग, ग्राफ्टिंग व गूटी द्वारा एक ही पौधे से कई पौधे बनाते हैं।

alaingik janan,युग्मनज क्या है,पुष्पी पादपों में जनन,जीवों में जनन pdf,मानव जनन video,आवृतबीजी पादपों में जनन,अंडजनन क्या है,मानव जनन कैसे करता है।,जंतुओं में जनन,वर्धी प्रजनन क्या है,अनिषेक जनन की परिभाषा,प्रजनन कितने प्रकार के होते हैं,वर्धी प्रजनन के उदाहरण,पौधों में प्रजनन एवं उनके प्रकार,बैक्टीरिया में प्रजनन के प्रकार,प्रजनन से आप क्या समझते हैं,प्रजनन की परिभाषा क्या है,आवृतबीजी पादपों में जनन,शुक्र जनन क्या है,हिंदी में gametogenesis परिभाषा,कायिक प्रवर्धन के लाभ,लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर, difference between sexual and asexual reproduction,
कायिक जनन के प्रकार,वर्धी प्रजनन की विधियां,

पौधों में लैंगिक जनन || asexual reproduction in plants

लैंगिक जनन में अर्धसूत्री कोशिका विभाजन द्वारा हैप्लॉयड जनन कोशिकाएं या युग्मक बनते हैं।
जो दो प्रकार के होते हैं– नर युग्मक मादा युग्मक।

एक नर युग्मक व एक मादा युग्मक के मिलने से डिप्लॉयड युग्मनज बनता है। जो बारंबार विभाजित होकर बीज बनाता है।बीज नए पौधे को जन्म देता है।

अलैंगिक जनन को निम्न चार चरणों में बाँटा जा सकता है-

(1) युग्मक जनन

अर्धसूत्री विभाजन द्वारा अगुणित युग्मक कोशिका का निर्माण युग्मक जनन कहलाता है। यह दो प्रकार का होता है-नर युग्मक जनन तथा मादा युग्मक जनन

(2) परागण

परागकणों का परागकोषों से निकलकर स्त्रीकेसर के वर्तिकाग्र तक पहुँचने की क्रिया

(3) निषेचन

नर तथा मादा युग्मक केंद्रको के मिलने से द्विगुणित युग्मनज जाइगोट का निर्माण

ये भी पढ़ें-  जीवाणु तथा विषाणु में अंतर || बैक्टीरिया और वायरस के बीच अंतर || difference between bacteria and virus

(4) बीज व फलों का निर्माण

लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर || difference between sexual and asexual reproduction

लैंगिक जनन
(sexual reproduction)
अलैंगिक जनन
(Asexual reproduction)
इसमें दो जनक भाग लेते है।केवल एक ही जनक भाग लेता है।
इस जनन में अर्धसूत्री विभाजन द्वारा अगुणित युग्मक बनते है।यह जनन केवल असूत्री या समसूत्री विभाजन द्वारा होता है।अगुणित युग्मक नहीं बनते ।
अगुणित युग्मको के मिलन से द्विगुणित युग्मनज बनता है।युग्मनज नहीं बनता।
युग्मनज से नए जीव का विकास होता है।पैतृक कोशिकाओं से नया जीव बनता है।
केवल बीज वाले पौधों में ही लैंगिक जनन हो सकता है।बिना बीज वाले पौधों में भी यह सम्भव है।
जनन में अधिक समय लगता है।कम समय या तेजी से होता है।
संतति जीवो में माता व पिता दोनो जीवो के लक्षण पाए जाते है।माता का प्रभाव रहता है।

हमारे चैनल को सब्सक्राइब करके हमसे जुड़िये और पढ़िये नीचे दी गयी लिंक को टच करके विजिट कीजिये ।

https://www.youtube.com/channel/UCybBX_v6s9-o8-3CItfA7Vg

उपयोगी लिंक

स्वपरागण और परपरागण में अंतर

परागण और निषेचन में अंतर

आवृतबीजी और अनावृतबीजी में अंतर

एकबीजपत्री और द्विबीजपत्री में अंतर

प्रेरणादायक कहानी पढ़िये

दोस्तों आपको यह आर्टिकल लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर बहुत पसंद आया होगा।आप इसे शेयर करके अपने मित्रों को भी पढ़ाये।

Tags- alaingik janan,युग्मनज क्या है,पुष्पी पादपों में जनन,जीवों में जनन pdf,मानव जनन video,आवृतबीजी पादपों में जनन,अंडजनन क्या है,मानव जनन कैसे करता है।,जंतुओं में जनन,वर्धी प्रजनन क्या है,अनिषेक जनन की परिभाषा,प्रजनन कितने प्रकार के होते हैं,वर्धी प्रजनन के उदाहरण,पौधों में प्रजनन एवं उनके प्रकार,बैक्टीरिया में प्रजनन के प्रकार,प्रजनन से आप क्या समझते हैं,प्रजनन की परिभाषा क्या है,आवृतबीजी पादपों में जनन,शुक्र जनन क्या है,हिंदी में gametogenesis परिभाषा,कायिक प्रवर्धन के लाभ,लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर, difference between sexual and asexual reproduction,

1 thought on “लैंगिक और अलैंगिक जनन में अंतर || difference between sexual and asexual reproduction”

Leave a Comment