विधि तथा प्रविधि में अन्तर | difference between Method and Devices in hindi 

विधि तथा प्रविधि में अन्तर | difference between Method and Devices in hindi – दोस्तों सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में शिक्षण कौशल 10 अंक का पूछा जाता है। शिक्षण कौशल के अंतर्गत ही एक विषय शामिल है। जिसका नाम शिक्षण अधिगम के सिद्धांत है। यह विषय बीटीसी बीएड में भी शामिल है। आज हम इसी विषय के समस्त टॉपिक को पढ़ेगे।  बीटीसी, बीएड,यूपीटेट, सुपरटेट की परीक्षाओं में इस टॉपिक से जरूर प्रश्न आता है। अतः इसकी महत्ता को देखते हुए hindiamrit.com आपके लिए यह टॉपिक  लेकर आया है।

difference between Method and Devices in hindi | विधि तथा प्रविधि में अन्तर

विधि तथा प्रविधि में अन्तर | difference between Method and Devices in hindi
difference between Method and Devices in hindi

विधि तथा प्रविधि में अन्तर (Defference between Method and Devices in hindi )

(1) विधि का अपना स्वतन्त्र अस्तित्व होता है। जबकि प्रविधि इस बात पर निर्भर करती है।

(2) विधि की एक सामान्य संरचना होती है। जबकि प्रविधि की संरचना विधि की संरचना पर निर्भर करती है।

(3) विधि का रूप व्यापक होता है जबकि प्रविधि उसमें प्रयुक्त होने वाला अंश है।

(4) शिक्षण में सामान्यतः एक बार में एक ही विधि का प्रयोग होता है। किन्तु उसमें आवश्यकतानुसार कई प्रविधियों को प्रयोग किया जा सकता है।

(5) विधि की सफलता पर ही प्रविधियों की सफलता निर्भर करती है।

(6) शिक्षण विधि कार्य की वह सामान्य योजना है। जिसका निर्धारण किसी विशेष शैक्षिक परिणाम या उद्देश्य की प्राप्ति के लिए किया जाता है । अतः शिक्षण विधि शैक्षिक उद्देश्यों से सम्बन्धित है।जबकि शिक्षण प्रविधि-शिक्षण के उद्देश्य तक पहुँचने में शिक्षण विधि को सहायता करती है। अर्थात् यह उद्देश्य के लक्ष्य की प्राप्ति तक पहुँचाने का मार्ग बनाती है।

ये भी पढ़ें-  अव्ययीभाव समास – परिभाषा,उदाहरण,विग्रह | avyyibhav samas in hindi

आपको यह भी पढ़ना चाहिए।

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण हिंदी कोर्स

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण बाल मनोविज्ञान कोर्स

50 मुख्य टॉपिक पर  निबंध पढ़िए

प्लासी का युद्ध – कारण,महत्व,प्रभाव

final words –

दोस्तों आपको यह टॉपिक कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं ।

Leave a Comment