संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi

नमस्कार साथियों 🙏 आपका स्वागत है। आज हम आपको हिंदी विषय के अति महत्वपूर्ण पाठ संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi से परिचित कराएंगे।

दोस्तों आप UPTET,CTET,HTET,BTC,DELED, SUPERTET, या अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते होंगे। आप जानते है की परीक्षाओं में हिंदी विषय का उतना ही स्थान है जितना अन्य विषयो का है।

इसीलिए हिंदी की महत्ता को देखते हुए हम आपके लिए अपनी वेबसाइट hindiamrit.com पर हिंदी के संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi पाठ का विस्तृत रूप से अध्ययन प्रदान कर रहे हैं। आप हमारी वेबसाइट पर हिंदी के समस्त पाठ का विस्तृत अधिगम प्राप्त कर सकेंगे।



Contents

संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi

हिंदी में अव्यय,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक शब्द examples,sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi

हमने इस टॉपिक में क्या क्या पढ़ाया है?

(1) अव्यय की परिभाषा
(2) अव्यय के प्रकार
(3) सम्बंधबोधक अव्यय की परिभाषा
(4) सम्बंधबोधक अव्यय के प्रकार
(5) सम्बंधबोधक अव्यय और क्रिया विशेषण में अंतर
(6) महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

अव्यय या अविकारी शब्द की परिभाषा || अव्यय या अविकारी शब्द किसे कहते हैं

अविकारी पद को अव्यय कहते हैं। अव्यय का शाब्दिक अर्थ है, जिसका व्यय न हो अर्थात जिसमें कुछ भी घट-बढ़ न हो। व्याकरण में ऐसे शब्दों को अव्यय कहा जाता है जिनका रूप नहीं बदलता है।

संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण और क्रिया पद लिंग, वचन, कारक, काल आदि के कारण बदलते हैं, परंतु अव्यय शब्द पदों के रूप लिंग, वचन,कारक, काल आदि के कारण नहीं बदलते। इसलिए उन्हें अविकारी शब्द भी कहते हैं।

जिन शब्दों के रूप में लिंग, वचन, काल कारक तथा पुरुष
कारण कोई परिवर्तन नहीं होता, उन्हें अव्यय या अविकारी शब्द कहते हैं।


अव्यय या अविकारी शब्द के प्रकार || अव्यय के भेद

अविकारी शब्द को चार भागों में बाँटा जाता है-

ये भी पढ़ें-  स्वर संधि – प्रकार,नियम,उदाहरण | swar sandhi in hindi

1. क्रियाविशेषण
2. संबंधबोधक
3. समुच्चयबोधक
4. विस्मयादिबोधक

Note – वैसे तो निपात अलग शब्द हैं और ये अविकारी भी है इसीलिए कुछ लोग निपात को भी अविकरी शब्दो के भेदों में शामिल करते हैं। हम यह शामिल नही कर रहे है हम आपको इसकी अलग से जानकारी प्रदान करेंगे।

तो दोस्तों हम पिछले अर्टिकल में क्रियाविशेषण एकदम विस्तार पूर्वक पढ़ चुके हैं। आज हम अविकारी शब्दों के अन्तर्गत संबंधबोधक अव्यय पढ़ेगे।

अव्यय इन हिंदी,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक शब्द किसे कहते हैं,संबंधबोधक शब्द किसे कहते हैं,sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,अव्यय किसे कहते हैं हिंदी में,हिंदी में अव्यय,avyay in hindi,avyay hindi grammar,अव्यय किसे कहते हैं,अव्यय के प्रकार,अव्यय के भेद,अव्यय का वाक्य में प्रयोग,अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक शब्द examples,sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

संबंधबोधक अव्यय की परिभाषा || संबंधबोधक अव्यय किसे कहते हैं

जो अव्यय शब्द संज्ञा अथवा सर्वनाम के साथ आकर उनका संबंध वाक्य के दूसरे शब्दों से बताते हैं, उन्हें ‘संबंधबोधक अव्यय’ कहते हैं।

संबंधबोधक अव्यय के उदाहरण –

(क) मेरे घर के पीछे बगीचा है।
(ख) बच्चा ठंड के मारे काँप रहा है।
(घ) हमारे घर के सामने स्कूल है।
(ग) पुल के ऊपर ट्रक जा रहा था।

उपर्युक्त वाक्यों में ‘के पीछे’, ‘के मारे’, ‘के ऊपर’ तथा ‘के सामने’ का संबंध क्रमश: ‘बगीचा’, ‘ठंड’, ‘ट्रक’ तथा ‘स्कूल’ शब्दों का संबंध पूरे वाक्य से जोड़ रहे हैं, अत: ये शब्द संबंधबोधक अव्यय कहे जाते हैं।

Note –

संबंधबोधक अव्यय विभक्ति के बिना और विभक्ति के साथ दोनों रूपों में प्रयुक्त होते हैं।

जैसे-
(क) राम परिवार सहित मेला देखने गया था। (विभक्ति रहित)
(ख) कमरे के अंदर काफी लोग बैठे हैं। (विभक्ति सहित)

सर्वप्रथम संबंधबोधक अव्यय के प्रकार जान लेते हैं इसके पश्चात इनको विस्तारपूर्वक पढ़ेगे।


अव्यय के प्रकार,sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक शब्द किसे कहते हैं,संबंधबोधक किसे कहते हैं,संबंधबोधक meaning in English,अव्यय किसे कहते हैं हिंदी में,हिंदी में अव्यय,avyay in hindi,avyay hindi grammar,अव्यय किसे कहते हैं,अव्यय के प्रकार,अव्यय के भेद,अव्यय का वाक्य में प्रयोग,अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

सम्बन्धबोधक अव्यय के प्रकार | संबंधबोधक अव्यय के भेद

(1) प्रयोग के आधार पर संबंधबोधक अव्यय के प्रकार

(i)  सम्बद्ध
(ii) अनुबद्ध

(2) व्युत्पत्ति के आधार पर संबंधबोधक अव्यय के प्रकार

(i)  मूल
(ii)  यौगिक

(3) अर्थ के आधार पर संबंधबोधक अव्यय के प्रकार

1. कालवाचक
2. स्थानवाचक
3. साधनवाचक
4. दिशावाचक
5. समताबोधक
6. विरोधवाचक
7. हेतुवाचक
8. तुलनावाचक 9. उद्देश्यवाचक 10. कारणवाचक



संबंधबोधक अव्यय के प्रकारों का वर्णन कीजिये

अर्थ के अनुसार संबंधबोधक अव्यय के प्रकार

1. कालवाचक
2. स्थानवाचक
3. साधनवाचक
4. दिशावाचक
5. समताबोधक
6. विरोधवाचक
7. हेतुवाचक
8. तुलनावाचक
9. उद्देश्यवाचक
10. कारणवाचक


1. कालवाचक

जिन अव्ययों से काल (समय) का बोध होता है,कालवाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – पहले, बाद में, आगे, पूर्व, पश्चात, उपरांत आदि।

ये भी पढ़ें-  न्यूनतम अधिगम स्तर का अर्थ और परिभाषा | न्यूनतम अधिगम स्तर की आवश्यकता

उदाहरण – रमेश, सुरेश से पहले आया था।


2. स्थानवाचक 

जिन अव्ययों से स्थान का बोध होता है,स्थानवाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे –  ऊपर, नीचे, बाहर, भीतर, पास, निकट, दूर आदि।

उदाहरण – विद्यालय के पीछे बाग है।



3. साधनवाचक

जिन अव्ययों से साधन का बोध होता है,साधनवाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे –  द्वारा, के द्वारा, खातिर, बलबूते, कारण, मारे, हेतु, निमित्त, जरिए, सहारे, के हाथ आदि।

उदाहरण – राम ने बाण के द्वारा रावण को मारा।


4. दिशावाचक

जिन अव्ययों से दिशा का बोध होता है,दिशावाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे –  सामने, पीछे, ओर, तरफ, प्रति, आर-पार, आस-पास आदि।

उदाहरण – वह आसमान की ओर देख रहा था।



5. समताबोधक

जिन अव्ययों से समता (समानता) का बोध होता है,समतावाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – समान, तरह, भाँति, बराबर, योग्य, तुल्य, सरीखा, सा, अनुरूप, ऐसा, जैसा आदि।

उदाहरण – कर्ण के समान दधीचि भी दानी थे।


6. विरोधवाचक

जिन अव्ययों से विरोध के भाव का बोध होता है,विरोधवाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे –  विपरीत, उलटा, खिलाफ, विरुद्ध, प्रतिकूल आदि।

उदाहरण – भारत ने पाकिस्तान के विरुद्ध लड़ाई की।


7. हेतुवाचक या व्यतिरेकवाचक

जिन अव्ययों से व्यतिरेक के भाव का बोध होता है,हेतुवाचक या व्यतिरेकवाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – अलावा, अतिरिक्त, बगैर, बदले, बिना, जगह, अपेक्षा, सामने, आगे, सिवा, रहित आदि।

उदाहरण – मैं तुम्हारे अतिरिक्त किसी के साथ नहीं जाऊँगा।


8. तुलनावाचक

जिन अव्ययों से तुलना का बोध होता है,तुलनावाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – सदृश, तुल्य, बराबर, अपेक्षा आदि।

उदाहरण – चाँदी की अपेक्षा सोना महँगा है।

9. उद्देश्यवाचक

जिन अव्ययों से उद्देश्य का बोध होता है,उद्देश्यवाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – के लिए,के निमित्त,के हेतु,की खातिर ।

उदाहरण – राम की खातिर हनुमान जी लंका गए

10. कारणवाचक

जिन अव्ययों से कारण का बोध होता है,कारणवाचक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – के कारण,के मारे,के लिए ।

उदाहरण – रमेश महेश के कारण चला गया।

अव्यय के प्रकार,sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक शब्द किसे कहते हैं,संबंधबोधक किसे कहते हैं,संबंधबोधक meaning in English,अव्यय किसे कहते हैं हिंदी में,हिंदी में अव्यय,avyay in hindi,avyay hindi grammar,अव्यय किसे कहते हैं,अव्यय के प्रकार,अव्यय के भेद,अव्यय का वाक्य में प्रयोग,अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक शब्द examples,sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

प्रयोग के आधार पर संबंधबोधक अव्यय के प्रकार

(i) सम्बद्ध

जो सम्बंधबोधक अव्यय संज्ञा,सर्वनाम के आगे किसी कारक चिन्ह के साथ लगाए जाते हैं,सम्बद्ध सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – के बिना, के साथ,के पीछे,के आगे,से पहले आदि।

उदाहरण – राम से पहले श्याम पहुँच गया

राम के बिना श्याम नहीं जाता ।

(ii) अनुबद्ध

जो सम्बंधबोधक अव्यय संज्ञा,सर्वनाम के आगे बिना किसी कारक चिन्ह के साथ लगाए जाते हैं,सम्बद्ध सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – तक,सहित,भर,पर्यन्त आदि ।

उदाहरण – वह रात भर घूमता रहा ।

वह जीवन पर्यन्त अध्यापक रहा।


व्युत्पत्ति के आधार पर संबंधबोधक अव्यय के प्रकार

(i) मूल सम्बंधबोधक अव्यय

वे सम्बंधबोधक अव्यय जिनकी रचना मूल रूप से हुई है अर्थात ये किसी अन्य शब्द की सहायता से नही बनाये गए है,मूल सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

ये भी पढ़ें-  हरिगीतिका छंद की परिभाषा और उदाहरण | harigitika chhand in hindi | हरिगीतिका छंद के उदाहरण

जैसे – समान,बिना,समेत,तक आदि।

(ii) यौगिक सम्बंधबोधक अव्यय

वे सम्बंधबोधक अव्यय जिनकी रचना मूल रूप से नहीं हुई है अर्थात ये किसी अन्य शब्द की सहायता से  बनाये गए है,यौगिक सम्बंधबोधक अव्यय कहलाते हैं।

जैसे – पर्यन्त = परि + अंत

sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक किसे कहते हैं,संबंधबोधक अव्यय हिंदी वाक्य,संबंधबोधक meaning in English,अव्यय किसे कहते हैं हिंदी में,हिंदी में अव्यय,avyay in hindi,avyay hindi grammar,अव्यय किसे कहते हैं,अव्यय के प्रकार,अव्यय के भेद,अव्यय का वाक्य में प्रयोग,अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

जो अव्यय शब्द क्रिया के स्थान, समय, उसके परिमाण या विधि
का बोध कराते हैं वे क्रियाविशेषण कहलाते हैं किंतु जब वे ही अविकारी शब्द संज्ञा व सर्वनाम शब्दों में संबंध स्थापित करते हैं तो उन्हें संबंधबोधक कहते हैं।

संबंधबोधक शब्द से पहले ‘के’ या ‘से’ परसर्ग जोड़ दिया जाता है।
परंतु कभी-कभी परसर्ग नहीं होता लेकिन उसका अर्थ स्पष्ट होता है;

जैसे –

(क) नहाने से पहले दाँत साफ करो। (संबंधबोधक)
पहले दाँत साफ करो। (क्रियाविशेषण)

(ख) घर के अंदर बंदर है। (संबंधबोधक)
अंदर आना मना है। (क्रियाविशेषण)

(ग) बिल्ली के पीछे कुत्ता भाग रहा था। (संबंधबोधक)
पीछे हट जाओ। (क्रियाविशेषण)

संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi से जुड़े परीक्षा उपयोगी प्रश्न

प्रश्न-1- व्युत्पत्ति के आधार पर सम्बंधबोधक के कितने प्रकार है?
उत्तर- 2

प्रश्न-2- प्रयोग के आधार पर सम्बंधबोधक अव्यय के कितने प्रकार है?
उत्तर- 2

प्रश्न-3- अर्थ के आधार पर सम्बंधबोधक अव्यय के कितने प्रकार है?
उत्तर- मुख्य 10

प्रश्न-4- सम्बंधबोधक अव्यय की परिभाषा बताइये।
उत्तर- जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताते है।

sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक किसे कहते हैं,संबंधबोधक अव्यय हिंदी वाक्य,संबंधबोधक meaning in English,अव्यय किसे कहते हैं हिंदी में,हिंदी में अव्यय,avyay in hindi,avyay hindi grammar,अव्यय किसे कहते हैं,अव्यय के प्रकार,अव्यय के भेद,अव्यय का वाक्य में प्रयोग,अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर



👉 सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण पढ़िये टच करके

» भाषा » बोली » लिपि » वर्ण » स्वर » व्यंजन » शब्द  » वाक्य » वाक्य शुद्धि » संज्ञा » लिंग » वचन » कारक » सर्वनाम » विशेषण » क्रिया » काल » वाच्य » क्रिया विशेषण » सम्बंधबोधक अव्यय » समुच्चयबोधक अव्यय » विस्मयादिबोधक अव्यय » निपात » विराम चिन्ह » उपसर्ग » प्रत्यय » संधि » समास » रस » अलंकार » छंद » विलोम शब्द » तत्सम तत्भव शब्द » पर्यायवाची शब्द » शुद्ध अशुद्ध शब्द » विदेशी शब्द » वाक्यांश के लिए एक शब्द » समानोच्चरित शब्द » मुहावरे » लोकोक्ति » पत्र » निबंध



बाल मनोविज्ञान चैप्टरवाइज पढ़िये uptet / ctet /supertet

Uptet हिंदी का विस्तार से सिलेबस समझिए

हमारे चैनल को सब्सक्राइब करके हमसे जुड़िये और पढ़िये नीचे दी गयी लिंक को टच करके विजिट कीजिये ।

https://www.youtube.com/channel/UCybBX_v6s9-o8-3CItfA7Vg

आशा है दोस्तों आपको यह टॉपिक संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi पढ़कर पसन्द आया होगा। इस टॉपिक से जुड़ी सारी समस्याएं आपकी खत्म हो गयी होगी। और जरूर अपने इस टॉपिक से बहुत कुछ नया प्राप्त किया होगा।

हमें कमेंट करके जरूर बताये की आपको पढ़कर कैसा लगा।हम आपके लिए हिंदी के समस्त टॉपिक लाएंगे।

दोस्तों संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजिए।

Tags – अव्यय इन हिंदी,संबंधबोधक के प्रकार,संबंधबोधक शब्द किसे कहते हैं,संबंधबोधक शब्द किसे कहते हैं,sambandhbodhak avyay example,sambandhbodhak avyay examples in hindi,sambandh bodhak avyay kise kehte hain,samuchaya bodhak in hindi,sambandhbodhak exercise in hindi,हिंदी में सम्बंधबोधक अव्यय,सम्बंधबोधक अव्यय हिंदी में, preposition in hindi, preposition hindi me, preposition hindi grammar,sambandhbodhak avyay hindi grammar,sambandhbodhak avyay in hindi,संबंधबोधक अव्यय परिभाषा प्रकार,संबंधबोधक के प्रकार,अव्यय किसे कहते हैं हिंदी में,हिंदी में अव्यय,avyay in hindi,avyay hindi grammar,अव्यय किसे कहते हैं,अव्यय के प्रकार,अव्यय के भेद,अव्यय का वाक्य में प्रयोग,अव्यय की परिभाषा,संबंधबोधक और क्रियाविशेषण में अंतर

1 thought on “संबंधबोधक अव्यय – परिभाषा,प्रकार | preposition in hindi”

Leave a Comment