कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार / विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज

आज का युग कम्प्यूटर का युग है। आज के जीवन मे सभी को कम्प्यूटर की बेसिक जानकारी होनी चाहिए। बहुत सी प्रतियोगी परीक्षाओं में भी कम्प्यूटर से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसीलिए हमारी साइट hindiamrit.com कम्प्यूटर से जुड़ी समस्त महत्वपूर्ण टॉपिक की श्रृंखला पेश करती है,जो आपके लिए अति महत्वपूर्ण साबित होगी,ऐसी हमारी आशा है। अतः आज का हमारा टॉपिक कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार / विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज की जानकारी प्रदान करना है।

कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार / विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज

कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार / विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज
कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार / विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज

विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज / कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार

Tags – कंप्यूटर में पैकेज कितने प्रकार के होते हैं?,कंप्यूटर पैकेज क्या है?,पैकेज के प्रकार,Types of Package,डाटाबेस पैकेज,वर्कशीट पैकेज,प्रेजेन्टेशन पैकेज,विभिन्न ऑफिस पैकेजूस का परिचय,Introduction to Different Office Packages,कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार,विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज,

पैकेज्स-अर्थ, सामान्य धारणा
(PACKAGES: INTRODUCTION & BASIC CONCEPT)

पैकेज का सामान्य अर्थ होता है-“भरना, बाँधना, सर्वव्यपता आदि” | लेकिन गूढ शब्दों में पैकेज का अर्थ इस प्रकार है कि जब कोई संस्थान, दूकान या कम्पनी का कर्मचारी अपने सामान को व्यवस्थित रूप में भण्डारित करके रखता है तो इस प्रक्रिया को उस वस्तु या सूचना आँकड़ों से सम्बन्धित प्रपत्रों की पैकेजिंग करना कहा जाता है।

पैकेज एक ऐसी व्यवस्था है जो कि किसी व्यवस्था विशेष की तरफ से उस व्यवस्था की खासियतों, उपयोगिताओं, शर्तों, नियमों तथा प्रबन्ध से जुड़ी होती है। पैकेज का अर्थ अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग रूपों में हो सकता है लेकिन उसकी व्यवस्था उपरोक्त रूप में होती है; जैसे–नौकरी के पैकेज में भी खासियतों,नियम, शर्त, उपयोगिता का वर्णन होता है वहीं कम्प्यूटर के पैकेज में भी नियम,शर्त, उपयोगिता एवं खासियतों का वर्णन होता है। इस प्रकार पैकेज एक ऐसीप्रक्रिया है जो समान होते हुए भी विविध रूपों में एवं अर्थों में प्रयोग की जाती है। पैकेज वर्तमान समय में एक व्यापक अर्थ रखने वाला शब्द है।

पैकेज के प्रकार (Types of Package)

पैकेज के निम्नलिखित प्रकार हैं-

(1) वर्ल्ड प्रोसेसर

इसका प्रयोग राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय कम्पनियों द्वारा सुन्दर, त्रुटि रहित तथा उपयोगी सामग्री का निर्माण करने में किया जाता है। इसके द्वारा साथ की साथ यह ज्ञात होता रहता है कि टाइप टैक्स्ट में कितने पेज मुद्रित हैं। पेज नम्बरों को परिवर्तित करने में भी यह उपयोगी है। इसके द्वारा शब्दों के मध्य की दूर जो भी निर्धारित कर दी जाती है उस दूरी पर ही यह कार्य करता है तथा दूरी कम या अधिक हो तो यह त्रुटि का संकेत भी करता है। इसका उपयोग व्यापार के क्षेत्र में भी किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें-  बीआरसी और एनपीआरसी के कार्य / बीएसए और एबीएसए के कार्य

इसके द्वारा नियमों एवं अनुबन्धों की कॉपी की जाती है। विभिन्न प्रकार के पत्रों का लेखन किया जाता है। कैश मीमो तैयार किए जाते हैं तथा व्यापार विषयक अनेक गतिविधियों को पूरा किया जाता है। व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में सामान्य कार्यों के लिए इसका उपयोग किया जाता है। घर पर भी वर्ड प्रोसेसर का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। बहुत से व्यक्ति जो लेखन कार्य से जुड़े हुए हैं अपना कार्य इसके द्वारा करते हैं। छात्र अपने गृह कार्य या प्रोजेक्ट वर्क को सम्पन्न करते हैं जो कि टाइपिंग के द्वारा पूरा किया जाना होता है। विभिन्न प्रकार के पारिवारिक पत्रों के लेखन में भी इसका प्रयोग किया जाता है।

इसके द्वारा लिखित टैक्स्ट से पेज नम्बरों के आधार पर तथा शीर्षक के आधार पर व्यवस्थित किया जा सकता है, जिससे उसको खोजने में कोई त्रुटि नहीं होती। इसके द्वारा लिखित सामग्री में अनेक प्रकार की साज-सज्जा भी की जा सकती है जिससे सामग्री उपयोगी एवं आकर्षक लगने लगती है; जैसे- टैक्स्ट में उपशीर्षकों का निर्माण करना, किसी सामग्री विशेष को हाईलाइट करना आदि । इसके द्वारा व्याकरण सम्बन्धी त्रुटियों को भी पकड़ा जा सकता है तथा उनको दूर करके लिखित कार्य को उपयोगी बनाया जा सकता है। इसके द्वारा प्रत्येक पेज को, शब्दों को, लाइनों को एवं वाक्यों को गिना जा सकता है। दूसरे शब्दों में हम यह जान सकते हैं कि किसी पेज में कितरे शब्द एवं कितने वाक्य हैं, इस पेज में कितनी लाइन हैं तथा कितने पैराग्राफ हैं। इस प्रकार यह संख्यात्मक सूचना देने का भी प्रमुख साधन है।

(2) प्रेजेन्टेशन पैकेज

प्रेजेन्टेशन पैकेज्स का उपयोग मुख्यतः डिजिटल मीडिया के क्षेत्र में किया जाता है। क्योंकि इस पैकेज के माध्यम से टैक्स्ट तथा चलचित्रों को सुन्दर आकर्षक तथा व्यवस्थित रूप में तैयार किया जा सकता है। व्यावसायिक क्षेत्र में इन पैकेजस् का बहुतायत प्रयोग किया जा रहा है। अधिकतर कम्पनियों के अपर कर्मचारी अपनी रिपोर्टों, आँकड़ों (व्यय तथा आय) तथा अन्य सूचनाओं को प्रेजेन्टेशन प्रक्रिया द्वारा वर्णित करते हैं। प्रेजेन्टेशन का सम्बन्ध स्लाइड शो से जुड़ा होता है। प्रेजेन्टेशन की प्रक्रिया में किसी भी सॉफ्टवेयर द्वारा सामान्य रूप से निम्नलिखित तीन कार्यों को सम्पन्न किया जाता है-

(1) प्रथम इसके माध्यम से किसी टैक्स्ट को इनसर्ट किया जाता है तथा उसको व्यवस्थिता रूप दिया जाता है।

ये भी पढ़ें-  ध्यान या अवधान का अर्थ,परिभाषा,प्रकार,ध्यान को प्रभावित करने वाले कारक

(2) इसके माध्यम से विभिन्न प्रकार की रेखीय व्यवस्थाओं के प्रस्तुतीकरण का कार्य किया जाता है तथा इसके साथ-साथ इनसर्ट करने की विविध विधियों को प्रस्तुत किया जाता है

(3) इसके साथ-साथ सम्पूर्ण स्लाइड शो को स्क्रीन पर डिस्प्ले किया जाता है। प्रेजेन्टेशन पैकेज में विविध प्रकार के सॉफ्टवेयरों की स्वयं की विशेषताएँ होती हैं।

इस प्रक्रिया को वर्तमान समय में रुचिपूर्ण एवं उपयोगी माना जाता है। इसे व्यक्ति सरलता से तैयार कर लेता है तथा इसका प्रदर्शन भी उचित रूप में कर सकता है। प्रेजेन्टेशन प्रोग्राम में विविध प्रकार की सूचनाओं एवं स्थितियों को दृश्य रूप में स्क्रीन पर प्रस्तुत किया जाता है। प्रेजेन्टेशन के विविध प्रकार वर्तमान समय में देखने को मिलते हैं। कुछ प्रकार शिक्षा, मनोरंजन एवं सामान्य सम्प्रेषण से सम्बन्धित होते हैं। वर्तमान समय में इस तकनीकी का प्रयोग नवीन तकनीकी के रूप में किया जाता है । आज अनेक प्रकार के पुराने साधन पेम्पलेट, हैण्डआउट,फ्लिपचार्ट, पोस्टर एवं ओवरहैड प्रोजेक्टर आदि के स्थान पर प्रेजेन्टेशन की प्रक्रिया को अपनाया जाता है।

(3) वर्कशीट पैकेज

इस पैकेज का प्रयोग कार्यालयों में सूचनाओं तथा आँकड़ों को व्यवस्थित रूप में एकीकृत किया जाता है। इसमें आँकड़ों को रो तथा कलम वाइज सैट कर लिया जाता है तथा उनकी गणितीय गणना कार्य को सुविधापूर्वक किया जा सकता है। पैकेज का मुख्य अवयव वर्कबुक होता है जिसमें सामान्यतः तीन वर्कशीट होते हैं। एक वर्कशीट में 16384 कॉलम व 1,048,576 रो हो सकते हैं।

(4) डाटाबेस पैकेज

डाटाबेस पैकेज सॉफ्टवेयरों का प्रमुख उपयोग आँकड़ों को स्टोर करने के लिए किया जाता है। साथ ही साथ जरूरत के अनुसार प्रस्तुत करने की आवश्यक व्यवस्था की जाती है। इन सॉफ्टवेयरों के द्वारा विभिन्न प्रकार के आँकड़ों को अपनी जरूरत के अनुसार व्यवस्थित किया जा सकता है। डाटाबेस सॉफ्टवेयरों के द्वारा विभिन्न प्रकार के आँकड़ों को एक प्रयोगकर्ता द्वारा विभिन्न विधियों द्वारा तथा इन्टरनेट के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।

डाटाबेस सॉफ्टवेयर के द्वारा एक साथ अनेक प्रयोगकर्ता लोकल एरिया नेटवर्क द्वारा एवं ब्राउजर द्वारा आँकड़ों विषयक प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं। डाटाबेस सॉफ्टवेयर का उपयोग विविध विण्डोज में करके इन्टरनेट के द्वारा आँकड़े प्राप्त किए जा सकते हैं। डाटाबेस सॉफ्टवेयर के प्रयोग में यदि आर.ए.डी. टूल्स को सम्बन्धित कर दिया जाए तो आँकड़ों से सम्बन्धित कार्य शीघ्र रूप में सम्पन्न होते हैं।

विभिन्न ऑफिस पैकेज का परिचय
(Introduction to Different Office Packages)

कार्यालयीन कार्यों में कम्प्यूटर के महत्व को देखते हुए कम्प्यूटरों के लिए सॉफ्टवेयर पैकेज तथा ऑफिस पैकेज बनाये गये जो किसी कार्यालय के अधिकांश कार्यों को सुगमता के साथ कर सकें। किसी भी सरकारी तथा गैर सरकारी कार्यालय के कार्यों को कम्प्यूटरीकृत करने वाले सॉफ्टवेयर, पैकेज्स अथवा ऑफिस पैकेज्स कहलाते हैं।

ये भी पढ़ें-  इंटरनेट की शुरुआत / इंटरनेट की सेवाएं / services of internet in hindi

इनका प्रयोग अधिकतर लिपिकीय कार्य करने वाले तथा मानसिक कार्य करने वाले व्यावसायिक व्यक्तियों द्वारा किया जाता है। इसमें विभिन्न प्रोग्राम होते हैं जो सामान्यतय एक ही साथ वितरित किए जाते हैं तथा आपस में डाटा का साझा भी कर लेते हैं। सभी कार्यालयों में अभिलेखों, सूचनाओं, भविष्य से सम्बन्धित योजनाओं तथा पूर्व अनुमानों से जुड़ी योजनाओं की अनेकों प्रकार की सूचनाएँ प्राप्त होती हैं।

वर्तमान में सभी कार्यालयों के सामने यह समस्या रहती है कि रिकॉर्डों एवं सूचनाओं का संग्रहीकरण कैसे और कहाँ किया जाए जिससे वह आवश्यकता के समय सुरक्षित रूप से प्राप्त हो सकें। इस समस्या को पूरा करने के लिए तकनीकी सॉफ्टवेयरों का प्रयोग किया जाता है। जिसमें रिकॉर्डी तथा सूचनाओं का एकत्रीकरण बड़ी संख्या में किया जा सकता है।

प्रायः कम्प्यूटरों पर उपयोग किए जाने वाले ऑफिस सुईटों की संख्या बहुत होती है। इनमें अधिकांशतः प्रचलित पैकेज माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस है। वर्तमान में यह माइक्रोसॉफ्ट विण्डोज और मैकिन्टोश आपरेटिंग सिस्टमों पर चलने वाले कम्प्यूटरों पर उपलब्ध होता है। वर्तमान समय में बाजार में माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2007 तथा ऑरेकल ओपन ऑफिस 2007 प्रचलित हैं। इन दोनों ही ऑफिस पैकेज का विवरण इस प्रकार है-

(1) माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2007

यह कार्यालयों में उपयोग में अपने वाला सबसे महत्वपूर्ण पैकेज है। क्योंकि इसमें अधिक विस्तारता का गुण विद्यमान है। आजकल प्रत्येक संस्था, कार्यालय चाहे वह सरकारी हो या गैर-सरकारी, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2007 का उपयोग अवश्य कर रहा है। क्योंकि इसके अन्तर्गत आँकड़ों को व्यवस्थित करना, सूचनाओं को एकीकृत करना, उन्हें आकर्षक तथा सुन्दर बनाना जैसा कार्य बहुत सुविधापूर्वक किया जा सकता है। वर्तमान व्यावसायिक क्षेत्र में कार्यरत कम्पनियों के प्रतिष्ठित कर्मचारी तथा संचालक अपने व्यापार के विकास आँकड़े, आय-व्यय आँकड़े, प्रोग्रेस रिपोर्ट के आँकड़े, भविष्य से सम्बन्धित आँकड़ों को इस ऑफिस पैकेज द्वारा ही सुरक्षित तथा व्यवस्थित करते हैं।

(2) ऑस्कल ओपन ऑफिस 2007

ऑरकल ओपन ऑफिस 2007 भी आजकल बाजार में बहुप्रचलित ऑफिस पैकेज है। इसमें भी माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2007 की भाँति कार्यालय कार्य प्रणाली से जुड़े आँकड़ों को सुव्यवस्थित ढंग से एकीकृत किया जा सकता है। यह पैकेज माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2007 की तरह विस्तारता की विशेषता प्रकट नहीं करता है। लेकिन कार्यालयों से सम्बन्धित सभी गणना, एकीकरण, व्यवस्थीकरण, प्रस्तुतीकरण आदि कार्यों का संचालन करने की सुविधा प्रदान करता है।



आपके लिए अन्य विषय की सम्पूर्ण श्रृंखला

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण हिंदी कोर्स

50 मुख्य टॉपिक पर  निबंध पढ़िए

                                  ◆◆ निवेदन ◆◆

हमें आशा है कि आज के इस आर्टिकल में अपने जरूर कुछ नया सीखा होगा। आप इस टॉपिक कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार / विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज को अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें। आपको यह आर्टिकल पढ़कर कैसा लगा इसकी जानकारी हमे कॉमेंट करके जरूर बताएं। आपका एक कॉमेंट हमारे लिए उपयोगी एवं प्रेरणादायक सिद्ध होगा।

Tags – कंप्यूटर में पैकेज कितने प्रकार के होते हैं?,कंप्यूटर पैकेज क्या है?,पैकेज के प्रकार,Types of Package,डाटाबेस पैकेज,वर्कशीट पैकेज,प्रेजेन्टेशन पैकेज,विभिन्न ऑफिस पैकेजूस का परिचय,Introduction to Different Office Packages,कंप्यूटर में पैकेज के प्रकार,विभिन्न प्रकार के ऑफिस पैकेज,

Leave a Comment