वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi

नमस्कार साथियों 🙏 आपका स्वागत है। आज हम आपको हिंदी विषय के अति महत्वपूर्ण पाठ वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi से परिचित कराएंगे।

दोस्तों आप UPTET, CTET, HTET, BTC, DELED,
SUPERTET, या अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं
की तैयारी करते होंगे। आप जानते है की परीक्षाओं में हिंदी विषय का उतना ही स्थान है जितना अन्य विषयो का है।

इसीलिए हिंदी की महत्ता को देखते हुए हम आपके लिए अपनी वेबसाइट hindiamrit.com पर हिंदी के वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi पाठ का विस्तृत रूप से अध्ययन प्रदान कर रहे हैं। आप हमारी वेबसाइट पर हिंदी के समस्त पाठ का विस्तृत अधिगम प्राप्त कर सकेंगे।


Contents

वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi

ध्वनि की परिभाषा,ध्वनि क्या है,ध्वनि की विशेषतायें,ध्वनि के गुण,वर्ण किसे कहते हैं,वर्ण की परिभाषा, वर्ण और अक्षर में अंतर, वर्णमाला किसे कहते हैं, वर्णमाला की परिभाषा,वर्णों के प्रकार,स्वर के प्रकार,व्यंजन के प्रकार,अयोगवाह किसे कहते हैं और इनके प्रकार,हलंत किसे कहते हैं,अनुनासिक ध्वनियां किसे कहते हैं,आगत ध्वनियां क्या है,वर्ण की परिभाषा क्या है,वर्णमाला की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैँ,

varn in hindi,संयुक्त वर्ण की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण किसे कहते हैं परिभाषा,hindi me varn,ऊष्म व्यंजन की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैं हिंदी में,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण किसे कहते हैँ,वर्ण किसे कहते हैं हिंदी में,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,हिंदी वर्ण अक्षर,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,

varn ke prakar,स्वर वर्ण के कितने भेद होते हैं,वर्ण और अक्षर में अंतर,वर्ण कितने हैं,हिंदी में वर्ण के कितने भेद हैं,वर्ण किसे कहते हैं परिभाषा,वर्ण विचार (हिंदी व्याकरण),ध्वनि किसे कहते हैं इन हिंदी,ध्वनि क्या है इन हिंदी,varn in hindi,ध्वनि किसे कहते है Hindi,वर्णमाला किसे कहते हैं उत्तर,वर्णमाला कितने होते हैं,वर्ण किसे कहते हैँ,वर्णमाला की परिभाषा,हिंदी वर्णमाला स्वर और व्यंजन,हिंदी वर्णमाला स्वर और व्यंजन,स्वर्ण वर्ण किसे कहते हैं,

hindi me varn,व्यंजन वर्ण कितने होते है,varn ki paribhasha,स्वर वर्ण कितने होते हैं,स्वर और व्यंजन का वर्गीकरण,ऊष्म व्यंजन किसे कहते हैं,स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण एवं वर्ण के प्रकार हिंदी व्याकरण,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,varn kise kahte hai,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,वर्ण और अक्षर में अंतर,अयोगवाह का अर्थ,अयोगवाह वर्ण संस्कृत,अयोगवाह के उदाहरण,


वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi

इस टॉपिक में हमने क्या क्या सम्मिलित किया है?

(1) ध्वनि की परिभाषा,ध्वनि क्या है?
(2) ध्वनि की विशेषतायें,ध्वनि के गुण
(3) वर्ण किसे कहते हैं,वर्ण की परिभाषा
(4) वर्ण और अक्षर में अंतर
(5) वर्णमाला किसे कहते हैं, वर्णमाला की परिभाषा
(6) वर्णों के प्रकार
(7) स्वर के प्रकार
(8) व्यंजन के प्रकार
(9) अयोगवाह किसे कहते हैं और इनके प्रकार
(10) हलंत किसे कहते हैं
(11) अनुनासिक ध्वनियां किसे कहते हैं
(12) आगत ध्वनियां क्या है
(13) महत्वपूर्ण परीक्षा उपयोगी प्रश्न

ध्वनि की परिभाषा || ध्वनि क्या है?

भाषा की सबसे छोटी मौखिक इकाई ध्वनि या स्विनिम कहलाती है।

ध्वनि के अंतर्गत केवल व्यक्त ध्वनियाँ ही आती है।

भाषा विज्ञान में ध्वनि का अर्थ केवल उन सभी ध्वनियों से है जिसका प्रयोग मानव बोलचाल में करता है। ध्वनि सुनने के द्वारा ग्रहण की जाती है।


ध्वनि की विशेषतायें | ध्वनि के गुण

(1) अविभाज्य

ये भी पढ़ें-  तत्पुरुष समास – परिभाषा,प्रकार,उदाहरण | tatpurush samas in hindi

ध्वनि अविभाज्य है। अर्थात ध्वनि को टुकड़ों में नहीं बांटा जा सकता है।

(2) मात्रा

सार्थक ध्वनि के उच्चारण में जो समय का परिमाण लगता है उसी को ही ध्वनि की मात्रा कहते हैं।

(3) सुर

व्यक्ति के भाव के अनुसार उतार-चढ़ाव में बोलने को सुर कहते हैं।

(4) बलाघात

किसी शब्द के उच्चारण में दूसरे अक्षर पर बल बढ़ता है इसी को बालाघात कहते हैं।

(5) विराम

बोलते समय धोनी के बाद दूसरी ध्वनि आने पर थोड़ा रुकना पड़ता है यह अल्पतम रुकने का समय विराम कहलाता है।


ध्वनि की परिभाषा,ध्वनि क्या है,ध्वनि की विशेषतायें,ध्वनि के गुण,वर्ण किसे कहते हैं,वर्ण की परिभाषा, वर्ण और अक्षर में अंतर, वर्णमाला किसे कहते हैं, वर्णमाला की परिभाषा,वर्णों के प्रकार,स्वर के प्रकार,व्यंजन के प्रकार,अयोगवाह किसे कहते हैं और इनके प्रकार,हलंत किसे कहते हैं,अनुनासिक ध्वनियां किसे कहते हैं,आगत ध्वनियां क्या है,वर्ण की परिभाषा क्या है,वर्णमाला की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैँ,

वर्ण किसे कहते हैं || वर्ण की परिभाषा | varn in hindi

अपने भावों एवं विचारों को अभिव्यक्त करने के लिए हम भाषा का प्रयोग करते हैं। बोलते समय हमारे मुख से कुछ ध्वनियाँ निकलती है।

इन्हीं ध्वनियों को लिखने के लिए कुछ चिन्ह निर्धारित किए गए हैं जिन्हें वर्ण या अक्षर कहा जाता है।

यह भाषा की लघुतम इकाई है। अर्थात इसके टुकड़े नहीं किए जा सकते है।

इस प्रकार वर्ण भाषा की वह छोटी इकाई है, जिसके खंड नहीं किए जा सकते हैं। वर्ण को अक्षर भी कहा जाता है। और अक्षर का अर्थ होता है – अनाशवान । अतः वर्ण को खंड खंड नहीं किया जा सकता है।

वर्णों के मेल से शब्द, शब्दों के मेल से वाक्य, तथा वाक्य से भाषा बनती है।

भाषा की सबसे छोटी इकाई वर्ण है।

भाषा की सबसे छोटी लिखितम इकाई वर्ण है।

NOTE –

भाषा की सबसे छोटी मौखिक इकाई ध्वनि है जबकि सबसे छोटी लिखितम इकाई वर्ण है।

वर्ण और अक्षर में अंतर

वर्ण को अक्षर भी कहा जाता है पर अगर व्यापक रूप से देखा जाए तो  वर्ण और अक्षर में थोड़ा अंतर भी है। इसको हम निम्न उदाहरण से समझते हैं।

जैसे – कमल

तो इसमें कमल में वर्णों की संख्या 3 है जबकि अक्षरों की संख्या 6 है।

वर्णमाला किसे कहते हैं | वर्णमाला की परिभाषा

प्रत्येक भाषा की अपनी वर्णमाला होती है।

किसी भाषा के सभी वर्ण जब एक साथ रखे जाते हैं तो वह समूह वर्णमाला कहलाता है।

वर्णमाला में वर्णों का एक निर्धारित क्रम होता है। लेकिन बिना किसी निश्चित क्रम के लिखे गए सभी वर्णों के समूह को वर्णमाला नहीं कहा जा सकता है।

इस प्रकार वर्णों के व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते हैं।

हिंदी वर्णमाला में कुल 52 वर्ण हैं। जिसमें 11 स्वर,33 व्यंजन,4 संयुक्त व्यंजन,2 अयोगवाह,2 द्विगुण या द्वित्व व्यंजन हैं।

hindi me varn,व्यंजन वर्ण कितने होते है,varn ki paribhasha,स्वर वर्ण कितने होते हैं,स्वर और व्यंजन का वर्गीकरण,ऊष्म व्यंजन किसे कहते हैं,स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण एवं वर्ण के प्रकार हिंदी व्याकरण,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,varn kise kahte hai,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,वर्ण और अक्षर में अंतर,अयोगवाह का अर्थ,अयोगवाह वर्ण संस्कृत,अयोगवाह के उदाहरण,

वर्णों के प्रकार | varn ke prakar

वर्ण के 3 प्रकार हैं :–

(1) स्वर    (2) व्यंजन     (3) अयोगवाह

(1) स्वर

ऐसे वर्ण जिनके उच्चारण में किसी अन्य वर्ण की आवश्यकता नहीं पड़ती स्वर कहलाते हैं। इनकी संख्या 11 मानी गयी है।

स्वर के प्रकार

(A) हृस्व स्वर

इन स्वरों के उच्चारण में केवल एक मात्रा का समय लगता है। इनकी संख्या 4 है – अ,इ,उ,ऋ ।

(B) दीर्घ स्वर

इन स्वरों के उच्चारण में केवल दो मात्रा का समय लगता है। इनकी संख्या 7 है – आ,ई,ऊ,ए,ऐ,ओ,औ ।

ये भी पढ़ें-  शैक्षिक नवाचार का अर्थ एवं परिभाषा | शैक्षिक नवाचार की आवश्यकता,विशेषताएं एवं क्षेत्र

(C) प्लुत स्वर

इन स्वरों के उच्चारण में केवल दो से अधिक मात्रा का समय लगता है। प्लुत स्वर को उल्टा एस या हिंदी के 3 से प्रदर्शित करते हैं।

जैसे- ओsम रोsम आदि।

(2) व्यंजन

ऐसे वर्ण जिनके उच्चारण में किसी अन्य वर्ण की सहायता लेनी पड़ती है, व्यंजन कहलाते हैं। इनकी संख्या 33 मानी गयी है।

व्यंजन के प्रकार

(A) स्पर्श व्यंजन

ऐसे व्यंजन जिनका उच्चारण करने पर जीभ उच्चारण स्थानों को स्पर्श करती है, स्पर्श व्यंजन कहलाते हैं। स्पर्श व्यंजनों की संख्या 25 है – क से म तक के व्यंजन स्पर्श व्यंजन हैं।

(B) अन्तस्थ व्यंजन

ऐसे व्यंजन जिनका उच्चारण मुख के अंदर से ही होता है, अंतस्थ व्यंजन कहलाते हैं। अन्तस्थ व्यंजनों की संख्या 4 है – य,र,ल,व ।

(C) उष्म व्यंजन

ऐसे बन में जिनका उच्चारण करते समय ऊष्मा (गर्माहट) उत्पन्न हो उसमें व्यंजन कहलाते हैं। उष्म व्यंजनों की संख्या 4 है – श,स,ष,ह ।

(D) संयुक्त व्यंजन

ऐसे व्यंजन जो दो व्यंजनों को मिलाकर बनते हैं संयुक्त व्यंजन का कहलाते हैं। संयुक्त व्यंजनों की संख्या 4 है –क्ष,त्र,ज्ञ,श्र ।


(3) अयोगवाह की परिभाषा || अयोगवाह किसे कहते हैं

ऐसे वर्ण जिनका मेल न तो स्वर न ही व्यंजन से हो पाया है अर्थात ये न तो स्वर है न व्यंजन है, अयोगवाह कहलाते है। इनकी संख्या 2 है। ये वर्णमाला से बाहर है।

अयोगवाह के प्रकार

(A) अनुस्वार

इसका उच्चारण नाक की सहायता से होता है।

जैसे – अंकित,अंक,जंग आदि। इसका उच्चारण म के जैसे होता है।

(B) विसर्ग

इसका उच्चारण कंठ से होता है।

जैसे – दुःख,प्रायः,प्रातःकाल,दुःशासन आदि। इसका उच्चारण ह के जैसे होता है।

hindi me varn,व्यंजन वर्ण कितने होते है,varn ki paribhasha,स्वर वर्ण कितने होते हैं,स्वर और व्यंजन का वर्गीकरण,ऊष्म व्यंजन किसे कहते हैं,स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण एवं वर्ण के प्रकार हिंदी व्याकरण,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,varn kise kahte hai,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,वर्ण और अक्षर में अंतर,अयोगवाह का अर्थ,अयोगवाह वर्ण संस्कृत,अयोगवाह के उदाहरण,

वर्णों का वर्गीकरण

इस प्रकार हिंदी वर्णों की संख्या 52 है।

(1) स्वर – 11
(2) व्यंजन – 33
(3) अयोगवाह – 2
(4) संयुक्त व्यंजन – 4
(5) द्विगुण या द्वित्व व्यंजन – 2

इस प्रकार हिंदी वर्णमाला में लेखन के आधार पर कुल वर्ण 52 हैं।

NOTE – 

हिंदी वर्णमाला में उच्चारण के आधार पर 44 वर्ण हैं। जिसमें 10 स्वर और 34 व्यंजन हैं।

varn in hindi,संयुक्त वर्ण की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण किसे कहते हैं परिभाषा,hindi me varn,ऊष्म व्यंजन की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैं हिंदी में,वर्ण कितने हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण किसे कहते हैँ,वर्ण किसे कहते हैं हिंदी में,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,हिंदी वर्ण अक्षर,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,

कुछ अन्य परिभाषाएं

अनुनासिक किसे कहते हैं || अनुनासिक वर्णों का उच्चारण कहाँ से होता है?

इसका उच्चारण नाक तथा मुख दोनों की सहायता से होता है,
इसे चंद्रबिंदु भी कहते हैं। जैसे – मुँह,आँगन आदि।

हलंत किसे कहते हैं || हलंत की परिभाषा

इसका प्रयोग व्यंजन के नीचे किया जाता है।जिस व्यंजन में स्वर नहीं लगा होता है वहां हलंत का चिन्ह लगाकर उसे स्पष्ट किया जाता है।
इसे  (्) से प्रदर्शित करते हैं।

जैसे –  उद् देश्य , द् वितीय आदि।

आगत ध्वनियां कौन सी हैं

कुछ ध्वनियाँ हिंदी भाषा की नही है वह बाहर से आई है जो हिंदी में स्वीकार कर ली गयी हैं।

ये ध्वनियां हैं – ज़ , फ़, ऑ आदि।

अयोगवाह के तीन प्रकार,अयोगवाह वर्ण कौन से है,कौन कौन से वर्ण अयोगवाह है,हलंत की परिभाषा,हलंत का प्रयोग कहाँ किया जाता है,अनुनासिक ध्वनियां किसे कहते हैं,ऑगत ध्वनियाँ किसे कहते हैं,कौन कौन से ध्वनियां ऑगत है,वर्ण एवं वर्ण के प्रकार हिंदी व्याकरण,varn ke prakar,हिंदी में वर्ण,

ये भी पढ़ें-  समास हिंदी में – परिभाषा,प्रकार,उदाहरण,पहचान | samas in hindi

varn in hindi,संयुक्त वर्ण की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण किसे कहते हैं परिभाषा,hindi me varn,ऊष्म व्यंजन की परिभाषा,वर्ण किसे कहते हैं हिंदी में,वर्ण कितने हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण किसे कहते हैँ,वर्ण किसे कहते हैं हिंदी में,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,हिंदी वर्ण अक्षर,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,

hindi me varn,व्यंजन वर्ण कितने होते है,varn ki paribhasha,स्वर वर्ण कितने होते हैं,स्वर और व्यंजन का वर्गीकरण,ऊष्म व्यंजन किसे कहते हैं,स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण कितने प्रकार के होते हैं उनके नाम,वर्ण एवं वर्ण के प्रकार हिंदी व्याकरण,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,varn kise kahte hai,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,वर्ण और अक्षर में अंतर,अयोगवाह का अर्थ,अयोगवाह वर्ण संस्कृत,अयोगवाह के उदाहरण,

वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi से जुड़े परीक्षा उपयोगी प्रश्न

प्रश्न-1- लेखन के आधार पर वर्णों की संख्या कितनी है?
उत्तर- 52

प्रश्न-2- उच्चारण के आधार पर वर्णों की संख्या कितनी है?
उत्तर- 44

प्रश्न-3- अयोगवाह की संख्या कितनी मानी गयी है।
उत्तर- 2

प्रश्न-4- हिंदी वर्णमाला में स्वरों की संख्या कितनी है?
उत्तर- 11

प्रश्न-5- हिंदी वर्णमाला में व्यंजनों की संख्या कितनी है?
उत्तर- 33

प्रश्न-6- भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है?
उत्तर- वर्ण

प्रश्न-7- भाषा की सबसे छोटी लिखितम इकाई क्या है?
उत्तर- वर्ण

प्रश्न-8- भाषा की सबसे छोटी मौखिक इकाई क्या है?
उत्तर- ध्वनि या स्विनिम


👉सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण पढ़िये टच करके

» भाषा » बोली » लिपि » वर्ण » स्वर » व्यंजन » शब्द  » वाक्य »वाक्य परिवर्तन » वाक्य शुद्धि » संज्ञा » लिंग » वचन » कारक » सर्वनाम » विशेषण » क्रिया » काल » वाच्य » क्रिया विशेषण » सम्बंधबोधक अव्यय » समुच्चयबोधक अव्यय » विस्मयादिबोधक अव्यय » निपात » विराम चिन्ह » उपसर्ग » प्रत्यय » संधि » समास » रस » अलंकार » छंद » विलोम शब्द » तत्सम तत्भव शब्द » पर्यायवाची शब्द » शुद्ध अशुद्ध शब्द » विदेशी शब्द » वाक्यांश के लिए एक शब्द » समानोच्चरित शब्द » मुहावरे » लोकोक्ति » पत्र » निबंध

👉 बाल मनोविज्ञान चैप्टरवाइज पढ़िये

यूपीटेट हिंदी सिलेबस जानिए विस्तार से

हमारा यू ट्यूब चैनल सब्सक्राइब करके हमसे जुड़िये नीचे लिंक को टच करके

https://www.youtube.com/channel/UCybBX_v6s9-o8-3CItfA7Vg

आशा है दोस्तों आपको यह टॉपिक वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi पढ़कर पसन्द आया होगा। इस टॉपिक से जुड़ी सारी समस्याएं आपकी खत्म हो गयी होगी। और जरूर अपने इस टॉपिक से बहुत कुछ नया प्राप्त किया होगा।

हमें कमेंट करके जरूर बताये की आपको पढ़कर कैसा लगा।हम आपके लिए हिंदी के समस्त टॉपिक लाएंगे।

दोस्तों वर्ण की परिभाषा | वर्ण के प्रकार | varn in hindi को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजिए।


Tags-   hindi me varn,व्यंजन वर्ण कितने होते है,varn ki paribhasha,स्वर वर्ण कितने होते हैं,स्वर और व्यंजन का वर्गीकरण,ऊष्म व्यंजन किसे कहते हैं,स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं,वर्ण किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं,वर्ण एवं वर्ण के प्रकार हिंदी व्याकरण,वर्ण किसे कहते हैं उदाहरण सहित,varn kise kahte hai,हिंदी में वर्ण के भेद हैं,वर्ण और अक्षर में अंतर,अयोगवाह का अर्थ,अयोगवाह वर्ण संस्कृत,अयोगवाह के उदाहरण,

अयोगवाह के तीन प्रकार,अयोगवाह वर्ण कौन से है,कौन कौन से वर्ण अयोगवाह है,हलंत की परिभाषा,हलंत का प्रयोग कहाँ किया जाता है,अनुनासिक ध्वनियां किसे कहते हैं,ऑगत ध्वनियाँ किसे कहते हैं,कौन कौन से ध्वनियां ऑगत है,वर्ण एवं वर्ण के प्रकार हिंदी व्याकरण,varn ke prakar,हिंदी में वर्ण,




Leave a Comment