ऑक्सीकरण तथा अपचयन में अंतर || difference between oxidation and reduction

दोस्तों आज hindiamrit आपके लिए प्रमुख अंतरों की श्रृंखला में ऑक्सीकरण तथा अपचयन में अंतर || difference between oxidation and reduction लेकर आया है।

तो आज हम आपको रेडॉक्स अभिक्रिया की अभिक्रिया,रेडॉक्स अभिक्रिया के प्रकार,ऑक्सीकरण की परिभाषा,अपचयन की परिभाषा,ऑक्सीकारक पदार्थ क्या होते हैं,अपचायक पदार्थ क्या होते हैं,ऑक्सीकरण अभिक्रिया किसे कहते हैं,अपचयन अभिक्रिया किसे कहते है,oksikarn aur apchayn me antar आदि की जानकारी प्रदान करेंगे।

ऑक्सीकरण तथा अपचयन में अंतर || difference between oxidation and reduction

अपचयन अभिक्रिया क्या है?,क्या संयोजन अभिक्रिया ऑक्सीकरण अवकरण अभिक्रिया है?,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया,अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,ऑक्सीकरण अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,अपचयन अभिक्रिया क्या है,उपचयन और अपचयन in english,उपचयन और अपचयन क्या है,रेडॉक्स अभिक्रिया किसे कहते है,उपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन in english,oksikarn aur apchayn me antar,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन किसे कहते हैं, difference between oxidation and reduction,अपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन की परिभाषा,ऑक्सीकरण और अपचयन में क्या अंतर है?,उपचयन एवं अपचयन क्या है,उपचयन और अपचयन में क्या अंतर है,ऑक्सीकारक पदार्थों के नाम,अपचायक पदार्थों के नाम,names of oxidising agents,names of reducing agents,oksikarn tatha apchayn me antar,

ये भी पढ़ें-  स्वपरागण और परपरागण में अंतर || difference between self pollination and cross pollination

अपचयन और ऑक्सीकरण की परिभाषा को हम दो धारणाओं की मदद से समझेंगे।

1.पहला पुरानी धारणा
2.दूसरा इलेक्ट्रॉन संकल्पना

अपचयन की परिभाषा || definition of reduction

प्राचीन धारणाओं के आधार पर अपचयन की परिभाषा

किसी पदार्थ द्वारा हाइड्रोजन या अन्य धन विद्युती तत्व या मूलक ग्रहण करने अथवा ऑक्सीजन या अन्य ऋण विद्युती तत्व या मूलक त्याग करने की प्रक्रिया अपचयन कहलाती है।

अपचयन में पदार्थ के किसी एक तत्व की संयोजकता घटती है।

जैसे-

(1) क्लोरीन का अपचयन

Cl2 + H2 ——> 2HCl

(2) क्यूप्रिक क्लोराइड का अपचयन

CuO + H2 ——-> Cu + H2O

(3) आयोडीन का अपचयन

I2 + Hg ——-> HgI2

इलेक्ट्रॉन संकल्पना के आधार पर अपचयन की परिभाषा

परमाणु , आयनों या अणुओं द्वारा एक या अधिक इलेक्ट्रॉन ग्रहण करने की प्रक्रिया अपचयन कहलाती है। अपचयन प्रक्रिया में किसी तत्व की संयोजकता घटती है। तथा संयोजकता में हुई कमी ग्रहण किए गए इलेक्ट्रॉनों की संख्या के बराबर होती है।

जैसे –

(1) ऑक्सीजन का अपचयन

O2 + 4H+ + 4e ——> 2H2O

(2) क्लोरीन का अपचयन

Cl2 + 2e ——> 2Cl-

(3) Cu2+ का अपचयन

Cu2+ + 2e ——-> Cu

ऑक्सीकरण संख्या के आधार पर अपचयन की परिभाषा

वह प्रक्रिया जिसमें किसी तत्व की ऑक्सीकरण संख्या घटती है,अपचयन कहलाती है।

जैसे –

(1) मरकरी का अपचयन

HgCl2 ———-> Hg2Cl2

(Hg की ऑ०सं० +2) (Hg की ऑ०सं० +1)

ऑक्सीकरण की परिभाषा || definition of oxidation

प्राचीन धारणाओं के आधार पर ऑक्सीकरण की परिभाषा

किसी पदार्थ द्वारा ऑक्सीजन या अन्य ऋण विद्युती तत्व या मूलक ग्रहण करने अथवा हाइड्रोजन या अन्य धन विद्युती तत्व या मूलक त्याग करने की प्रक्रिया ऑक्सीकरण या उपचयन कहलाती है।

ये भी पढ़ें-  सदिश व अदिश राशि में अंतर || difference between scalar and vector quantities

अपचयन में पदार्थ के किसी एक तत्व की संयोजकता बढ़ती है।

जैसे-

(1) कार्बन का ऑक्सीकरण

C + O2 ——> CO2

(2) फेरस क्लोराइड का ऑक्सीकरण

2FeCl2 + Cl2 ——-> 2FeCl3

(3) हाइड्रोजन आयोडाइड का ऑक्सीकरण

4HI + O2 ——-> 2 I2 + 2H2O

इलेक्ट्रॉन संकल्पना के आधार पर अपचयन की परिभाषा

परमाणु , आयनों या अणुओं द्वारा एक या अधिक इलेक्ट्रॉन त्याग करने की प्रक्रिया ऑक्सीकरण या उपचयन कहलाती है। ऑक्सीकरण प्रक्रिया में किसी तत्व की संयोजकता बढ़ती है। तथा संयोजकता में हुई वृद्धि त्याग किये गए इलेक्ट्रॉनों की संख्या के बराबर होती है।

जैसे –

(1) सोडियम का ऑक्सीकरण

Na —————> Na+ + e

(2) हाइड्रोजन का ऑक्सीकरण

H2 —————> 2H+ +2e

(3) हाइड्रोजन पराऑक्साइड का ऑक्सीकरण

H2O2 ———> O2 + 2H+ + 2e

ऑक्सीकरण संख्या के आधार पर ऑक्सीकरण की परिभाषा

वह प्रक्रिया जिसमें किसी तत्व की ऑक्सीकरण संख्या बढ़ती है,ऑक्सीकरण या उपचयन कहलाती है।

जैसे –

(1) आयरन का ओऑक्सीकरण

FeCl2 ———-> FeCl3

(Fe की ऑ०सं० +2) (Fe की ऑ०सं० +3)

ऑक्सीकारक और अपचायक || oxidising agent and reducing agent

अभिक्रिया में जिस पदार्थ का ऑक्सीकरण होता है, उसे अपचायक (reducing agent) कहते है।

अभिक्रिया में जिस पदार्थ का अपचयन होता है, उसे ऑक्सीकारक (oxidising agent) कहते हैं।

अपचयन अभिक्रिया क्या है?,क्या संयोजन अभिक्रिया ऑक्सीकरण अवकरण अभिक्रिया है?,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया,अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,ऑक्सीकरण अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,अपचयन अभिक्रिया क्या है,उपचयन और अपचयन in english,उपचयन और अपचयन क्या है,रेडॉक्स अभिक्रिया किसे कहते है,उपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन in english,oksikarn aur apchayn me antar,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन किसे कहते हैं, difference between oxidation and reduction,अपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन की परिभाषा,ऑक्सीकरण और अपचयन में क्या अंतर है?,उपचयन एवं अपचयन क्या है,उपचयन और अपचयन में क्या अंतर है,ऑक्सीकारक पदार्थों के नाम,अपचायक पदार्थों के नाम,names of oxidising agents,names of reducing agents,oksikarn tatha apchayn me antar,
Names of oxidising agents,ऑक्सीकारक पदार्थों के नाम,

ऑक्सीकारक पदार्थो के नाम || names of oxidising agents

(1) पोटेशियम परमैंगनेट ( KmnO4 )

(2) पोटैशियम डाइक्रोमेट ( K2Cr2O7 )

(3) नाइट्रिक अम्ल ( HNO3 )

(4) हैलोजन ( Cl2 , Br2 , I2 )

(5) हाइड्रोजन पराक्साइड ( H2O2)

(6) आयोडेट ( KIO3 )

अपचयन अभिक्रिया क्या है?,क्या संयोजन अभिक्रिया ऑक्सीकरण अवकरण अभिक्रिया है?,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया,अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,ऑक्सीकरण अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,अपचयन अभिक्रिया क्या है,उपचयन और अपचयन in english,उपचयन और अपचयन क्या है,रेडॉक्स अभिक्रिया किसे कहते है,उपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन in english,oksikarn aur apchayn me antar,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन किसे कहते हैं, difference between oxidation and reduction,अपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन की परिभाषा,ऑक्सीकरण और अपचयन में क्या अंतर है?,उपचयन एवं अपचयन क्या है,उपचयन और अपचयन में क्या अंतर है,ऑक्सीकारक पदार्थों के नाम,अपचायक पदार्थों के नाम,names of oxidising agents,names of reducing agents,oksikarn tatha apchayn me antar,
Names of reducing agents,अपचायक पदार्थों के नाम,

अपचायक पदार्थो के नाम || names of reducing agents

(1) फेरस सल्फेट ( FeSO4.7H2O )

(2) फेरस अमोनियम सल्फेट या मोहर लवण

[ FeSO4.(NH4)2SO4.6H2O ]

(3) पोटेशियम आयोडाइड ( KI )

(4) स्टैनस क्लोराइड ( SnCl2 )

ये भी पढ़ें-  उत्तल और अवतल दर्पण में अंतर || difference between convex and concave mirror

(5) सल्फर डाइऑक्साइड ( SO2 )

(6) हाइड्रोजन सल्फाइड ( H2S )

अपचयन अभिक्रिया क्या है?,क्या संयोजन अभिक्रिया ऑक्सीकरण अवकरण अभिक्रिया है?,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया,अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,ऑक्सीकरण अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,अपचयन अभिक्रिया क्या है,उपचयन और अपचयन in english,उपचयन और अपचयन क्या है,रेडॉक्स अभिक्रिया किसे कहते है,उपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन in english,oksikarn aur apchayn me antar,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन किसे कहते हैं, difference between oxidation and reduction,अपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन की परिभाषा,ऑक्सीकरण और अपचयन में क्या अंतर है?,उपचयन एवं अपचयन क्या है,उपचयन और अपचयन में क्या अंतर है,ऑक्सीकारक पदार्थों के नाम,अपचायक पदार्थों के नाम,names of oxidising agents,names of reducing agents,oksikarn tatha apchayn me antar,

ऑक्सीकरण तथा अपचयन में अंतर || difference between oxidation and reduction

ऑक्सीकरणअपचयन
किसी पदार्थ द्वारा ऑक्सीजन या अन्य ऋण विद्युती तत्व या मूलक ग्रहण करने अथवा हाइड्रोजन या अन्य धन विद्युती तत्व या मूलक त्याग करने की प्रक्रिया ऑक्सीकरण या उपचयन कहलाती है। पदार्थ द्वारा हाइड्रोजन या अन्य धन विद्युती तत्व या मूलक ग्रहण करने अथवा ऑक्सीजन या अन्य ऋण विद्युती तत्व या मूलक त्याग करने की प्रक्रिया अपचयन कहलाती है।
इसमें तत्व की संयोजकता बढ़ती है।घटती है।
इसमें तत्व जिसका ऑक्सीकरण होता है वह इलेक्ट्रान का त्याग करता है।इलेक्ट्रान ग्रहण करता है।
इसमें ऑक्सीकरण संख्या बढ़ जाती है।घट जाती है।
जिस पदार्थ का ऑक्सीकरण होता है वह अपचायक कहलाता है।जिस पदार्थ का अपचयन होता है वह ऑक्सीकारक कहलाता है।

हमारे यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करके हमसे जुड़िये और पढ़िये नीचे दी गयी लिंक को टच करके विजिट कीजिये ।

https://www.youtube.com/channel/UCybBX_v6s9-o8-3CItfA7Vg

आपको यह भी पढ़ना चाहिए

ऑक्सीकरण संख्या और संयोजकता में अंतर

साबुन और डिटर्जेंट में अंतर

यूपीटेट गणित का सिलेबस विस्तार से

दोस्तों आपको यह आर्टिकल ऑक्सीकरण तथा अपचयन में अंतर पसन्द आया होगा। हमें कमेंट करके बताये तथा इसे शेयर जरूर करे।

Tags- अपचयन अभिक्रिया क्या है?,क्या संयोजन अभिक्रिया ऑक्सीकरण अवकरण अभिक्रिया है?,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया,अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,ऑक्सीकरण अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,अपचयन अभिक्रिया क्या है,उपचयन और अपचयन in english,उपचयन और अपचयन क्या है,रेडॉक्स अभिक्रिया किसे कहते है,उपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन in english,oksikarn aur apchayn me antar,उपचयन और अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं,उपचयन और अपचयन किसे कहते हैं, difference between oxidation and reduction,अपचयन और अपचयन में अंतर,उपचयन और अपचयन की परिभाषा,ऑक्सीकरण और अपचयन में क्या अंतर है?,उपचयन एवं अपचयन क्या है,उपचयन और अपचयन में क्या अंतर है,ऑक्सीकारक पदार्थों के नाम,अपचायक पदार्थों के नाम,names of oxidising agents,names of reducing agents,oksikarn tatha apchayn me antar,

Leave a Comment