कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली

आज का युग कम्प्यूटर का युग है। आज के जीवन मे सभी को कम्प्यूटर की बेसिक जानकारी होनी चाहिए। बहुत सी प्रतियोगी परीक्षाओं में भी कम्प्यूटर से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसीलिए हमारी साइट hindiamrit.com कम्प्यूटर से जुड़ी समस्त महत्वपूर्ण टॉपिक की श्रृंखला पेश करती है,जो आपके लिए अति महत्वपूर्ण साबित होगी,ऐसी हमारी आशा है। अतः आज का हमारा टॉपिक कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली की जानकारी प्रदान करना है।

कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली

कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली
कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली

फैक्स की कार्यप्रणाली / कंप्यूटर फैक्स क्या है /

Tags – कंप्यूटर फैक्स क्या है अर्थ,कंप्यूटर फैक्स क्या है उपयोग,फैक्स का उपयोग क्या है?,फैक्स क्या है इन हिंदी?,computer fax system,फैक्स का पूरा नाम क्या है?,फैक्स मशीन कौन सा डिवाइस है?,कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली, फैक्स का उपयोग,फैक्स मशीन का आविष्कार कब और किसने किया?,

फैक्स क्या है / (Fax or Fasimile)

(Fax) फैक्स सूचना प्रौद्योगिकी की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। इसमें ग्राफ, चार्ट, हस्तलिखित/मुद्रित सामग्री को टेलीफोन नेटवर्क के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान पर मूल प्रति की फोटो कॉपी के स्वरूप को भेजा जाता है। कुछ ही सेकेण्डों में टाइप की हुई या हस्तलिखित संदेश की अधिकाधिक मात्रा को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजना सम्भव होता है।

फैक्स अंग्रेजी भाषा के ‘फेसिमिली’ शब्द से बना है। ‘फेसिमिली’ शब्द मूल रूप से लैटिन भाषा से सम्बद्ध है। ‘फैस’ का अभिप्राय ‘बनाना’ तथा ‘सिमिली’ शब्द से अभिप्राय ‘उसी के समान’ से है अर्थात् अन्य शब्दों में, फैक्स द्वारा मूल प्रति की छाया प्रति दूसरे छोर पर तत्काल उपलब्ध हो जाती है।

ये भी पढ़ें-  पर्यवेक्षण के प्रकार / पर्यवेक्षण की प्रविधियां


Chird Muncit (Mechanism) फैक्स सेवा में प्रथमतः भेजे जाने वाले लिखित/मुद्रित दस्तावेज का क्रमवीक्षण (स्कैनिंग) की जाती है। इस क्रिया द्वारा इमेज को विद्युतीय सिग्नल में परिवर्तित किया जाता है। अभिग्राही छोर पर वास्तविक विद्युतीय सिग्नल को फैक्स रिकॉर्डर से गुजारा जाता है जिसके द्वारा प्रेषित इमेज की हार्ड प्रतिलिपि प्राप्त हो जाती है।

फैक्स तकनीक के आविष्कार की बात की जाए तो फैक्स का आविष्कार 19वीं सदी में हुआ था वर्ष 1846 में स्कॉटलैंड के आविष्कारक अलेक्जेंडर बेन ने इसका आविष्कार किया था।

फैक्स कार्य-प्रणाली का विवरण

1. क्रमवीक्ष (स्कैनिंग ) (Scaning)– अधिकांश व्यावसायिक फैक्स तन्त्र विद्युत अभियान्त्रिकी सिद्धान्त पर कार्य करते हैं एवं फोटो विद्युतीय क्रमवीक्षण पद्धति का प्रयोग करते हैं। फोटो विद्युतीय क्रमवीक्षण का मुख्य उद्देश्य एक विद्युत एनालॉग सिग्नल का विकास (प्रेषित किये जाने वाले प्रतिबिम्बों की रूपरेखा का सृजन करने वाले सभी परिवर्तनों के आधार पर) करना है। क्रमवीक्षण प्रलेख पृष्ठ (Document Page) को प्रकाशित करता है और प्रतिबिम्बों का छोटे-छोटे खण्डों में विश्लेषण करता है इलेक्ट्रॉनिक एनालॉग सिग्नल का निर्माण होता है।


2. रिकॉर्डिंग (Recording) – क्रमवीक्षण (स्कैनिंग) की तरह ही अधिकांश रिकॉर्डर विद्युतीय अभियान्त्रिक प्रकृति के होते हैं। इनका आकार बेलनाकार या संमतल होता है परन्तु वर्तमान में ये बेलनाकार ही आते हैं।


3. फेजिंग समाकलन (Fazing Integration) – वास्तविक प्रेषित चित्र को अभिग्राही छोर पर पुन: निर्मित किया जाता है। इसके लिए निम्न दो बातें आवश्यक हैं-


(i) प्रेषण के प्रारम्भ के साथ क्रमवीक्षण (स्कैनिंग) व रिकॉर्डिंग एवं प्रकाश एक दूसरे के साथ सम्पूर्ण व सम्पाती हो।


(ii) प्रेषक प्रक्रिया की दशा में यह सम्पाती स्थिति पूर्ण रूप से कायम रहना अनिवार्य है। सामान्य फेजिंग पद्धति में पल्स-तुलना तकनीक प्रयुक्त की जाती है। समाकलन के लिए क्रिस्टल नियन्त्रित आवृत्ति मानक का प्रयोग किया जाता है। उपग्रह आधारित फैक्स सेवा (Satellite based Fax Service) कुछ समय पूर्व उपग्रह संचार प्रणाली के प्रसार-प्रचार में फैक्स सेवाएँ केबिल द्वारा सम्पन्न की जाती थीं। आज यह उपग्रह संचार प्रणाली के माध्यम से सम्पन्न होती हैं।

ये भी पढ़ें-  मेमोरी के प्रकार / रैम और रोम में अंतर / difference between RAM and ROM

फैक्स सेवा की विशेषताएँ

(i) विशाल विस्तृत क्षेत्र में फैक्स प्रेषक,
(ii) चैनल की कम कीमत,
(iii) चैनल की गुणवत्ता में सुधार,
(iv) इसे रूट टॉप एण्टिना के जरिए प्राप्त किया जाता है,
(v) संचार की विश्वसनीयता बढ़ जाती है।


फैक्स सेवा एक त्वरित व अत्यन्त सस्ती प्रणाली है। इसके जरिए हम अपने लिखित/मुद्रित दस्तावेजों को फोटो कॉपी स्वरूप में सम्बन्धित व्यक्ति तक अविलम्ब प्रेषित कर सकते हैं। आज फैक्स सेवा दैनिक कार्य-प्रणाली का एक प्रमुख अंग बन गयी है। इसका प्रयोग स्वास्थ्य, चिकित्सा, व्यापार, कृषि, बैंकिंग, बीमा व शिक्षा इत्यादि क्षेत्रों में अधिकाधिक किया जा रहा है।



आपके लिए अन्य विषय की सम्पूर्ण श्रृंखला

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण हिंदी कोर्स

50 मुख्य टॉपिक पर  निबंध पढ़िए

                              ◆◆ निवेदन ◆◆

हमें आशा है कि आज के इस आर्टिकल में अपने जरूर कुछ नया सीखा होगा। आप इस टॉपिक कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली को अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें। आपको यह आर्टिकल पढ़कर कैसा लगा इसकी जानकारी हमे कॉमेंट करके जरूर बताएं। आपका एक कॉमेंट हमारे लिए उपयोगी एवं प्रेरणादायक सिद्ध होगा।

Tags – कंप्यूटर फैक्स क्या है अर्थ,कंप्यूटर फैक्स क्या है उपयोग,फैक्स का उपयोग क्या है?,फैक्स क्या है इन हिंदी?,computer fax system,फैक्स का पूरा नाम क्या है?,फैक्स मशीन कौन सा डिवाइस है?,कंप्यूटर फैक्स क्या है / फैक्स की कार्यप्रणाली,फैक्स का उपयोग,फैक्स मशीन का आविष्कार कब और किसने किया?,

Leave a Comment