अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार

बीटीसी एवं सुपरटेट की परीक्षा में शामिल शिक्षण कौशल के विषय समावेशी शिक्षा में सम्मिलित चैप्टर अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार  आज हमारी वेबसाइट hindiamrit.com का टॉपिक हैं।

अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार

अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार
अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार


(Learning Disabled Child) अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं

Tags  – अधिगम अक्षमता का अर्थ एवं परिभाषाएं,अधिगम अक्षमता का अर्थ,अधिगम अक्षमता की परिभाषाएं,अधिगम अक्षमता वाले बालकों की विशेषताएँ,Charaeteristics of Learning Disabled Children,अधिगम अक्षमता वाले बालकों के प्रकार,Types of Learning Disabled Children,अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार


अधिगम अक्षमता का अर्थ एवं परिभाषाएं

बाइस और वैलेन आदि ने धिगम न्यूनता के इस विशिष्ट क्षेत्र के लिये केवल उन बालकों के अध्ययन पर बल दिया जो सामान्य रूपसेकम बुद्धिलब्धि रखते हों। उन्होंने यह कहा कि यदि कोई विद्यार्थी न्यूनतम् शैक्षिक योग्यता प्राप्त करता है और उसकी बुद्धिलब्धि न्यून है तो यह स्वाभाविक रूप से स्पष्ट है कि उसकी अधिगम न्यूनता का कारण बुद्धिलब्धता की न्यूनता है। इन सभी धारणाओं एवं क्षेत्रों के समूहगत विश्लेषण के आधार पर सैमुअल कर्क ने इस प्रकार के बालकों को अधिगम अक्षम बालकों की संज्ञा प्रदान की।

उसने बताया कि ये बालक अधिगम अक्षम इसलिये हैं क्योंकि इनमें न्यूनतम मस्तिष्कीय क्षतिग्रस्तता, पढ़ने की दक्षता की समस्या एवं क्रियाशीलता का अभाव आदि सभी स्थितियाँ हैं। दूसरे शब्दों में, अधिगम अक्षमता को स्पष्ट करते हुए विद्वानों ने लिखा है कि एक बालक उस स्थिति में अधिगम अक्षम होता है, जबकि उसमें शैक्षिक न्यूनता होती है। इस शैक्षिक न्यूनता के कारण आन्तरिक एवं बाह्य स्थिति के मानकीय परिणाम ही नहीं होते, वरन् जिनपरिस्थितियों में बालक शिक्षा प्राप्त करता है, उसको भी सम्मिलित किया जाना चाहिये। इसे विद्वानों ने निम्नलिखित रूप में परिभाषित किया है-

ये भी पढ़ें-  फ्रॉबेल का शिक्षा दर्शन | फ्रॉबेल के अनुसार शिक्षा के उद्देश्य पाठ्यक्रम एवं शिक्षण विधियां

(1) हैमिल तथा लेघ के अनुसार, “अधिगम अक्षमता एक ऐसा मूल शब्द है जो बालकों के ऐसे समूह की ओर संकेत करता है, जो कि सामान्य रूप से श्रवण, वाचन, अध्ययन, लेखन, तर्क एवं गणितीय आदि योग्यताओं में सार्थक रूप से कठिनाई का अनुभव करता है।”

(2) श्रीमती आर.के. शर्मा के शब्दों में,”अधिगम अक्षम बालकों का आशय बालकों के उस समूह से है, जो सम्वेदी, क्षतिग्रस्त, मानसिक विकलांगता, संवेगात्मक अस्थिरता, सांस्कृतिक विभिन्नता, अनुपयुक्त शैक्षिक वातावरण तथा सामाजिक क्रियाओं के व्यवधान आदि के परिणामस्वरूप सामान्य रूप से अधिगम करने में कठिनाई का अनुभव करते हैं तथा उनका अधिगम स्तर सामान्य बालकों की तुलना में निम्न होता है।”

उपरोक्त विवेचन से यह स्पष्ट होता है कि अधिगम अक्षमता बालकों में अनेक आन्तरिक एवं बाह्य कारणों के प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष प्रभाव के कारण उत्पन्न होती है, जिसके परिणामस्वरूप बालक का अधिगम स्तर सामान्य बालकों की तुलना में निम्न होता है। बालकों की शैक्षिक।न्यूनता के सन्दर्भ में स्पष्ट करते हुए बताया गया है कि यदि कोई बालक अधिगम अक्षम है तो।इसमें शैक्षिक न्यूनता होगी और शैक्षिक न्यूनता उसके आन्तरिक एवं बाहरी मानकीय परिणाम के कारण नहीं बल्कि उसमें शैक्षिक दशाओं की न्यूनतम् उपलब्धता के कारण होती है।

अधिगम अक्षमता वाले बालकों की विशेषताएँ

मन, डेविस एवं बोल्फफोड आदि ने अधिगम अक्षमता की मूलतः तीन विशेषताएँ बतायी हैं-(1) मानसिक योग्यता आंशिक होनी चाहिये तथा बुद्धि लब्धांक 100, जिसमें विचलन होना चाहिये। (2) मनोवैज्ञानिक प्रक्रियाओं में स्पष्ट अन्तर पाया जाना चाहिये। (3) अन्य दशाओं के रूप में शारीरिक, पारिवारिक एवं वातावरणीय दशाएँ प्रतिकूल नहीं होनी चाहिये।

ये भी पढ़ें-  [ NCF 2005 ] राष्ट्रीय पाठ्यक्रम संरचना 2005 के सिद्धांत / NCF 2005 के सिद्धांत / principles of NCF 2005 in hindi

क्लीमेण्ट मनोवैज्ञानिक ने अधिगम अक्षमता से सम्बन्धित साहित्यों का विश्लेषण कर अधिगम निर्योग्यता से सम्बन्धित 99 विशेषताओं की एक सूची को प्रस्तुत किया किन्तु उसमें से 9 विशेषताएँ ऐसी पायी गयीं, जो कि अधिगम अक्षमता में अनिवार्य रूप से पायी जाती हैं। ये विशेषताएँ हैं-(1) अतिक्रियाशीलता, (2) प्रत्यक्ष रूप से गति न्यूनता, (3) सांवेगिक अस्थिरता, (4) सामान्य सामंजस्य का अभाव, (5) अवधान समस्या, (6) प्रोत्साहनीय,।(7) स्मृति एवं चिन्तन व्यवहारित, (8) विशिष्ट शिक्षा सम्बन्धी समस्याएँ (गणितीय,वाचन, अध्ययन, लेखन और अक्षर अथवा शब्द ज्ञान का अभाव) तथा (9) तन्त्रिकीय अथवा तरंगों में असमान्यता।

अधिगम अक्षमता वाले बालकों के प्रकार / Types of Learning Disabled Children

बौद्धिक क्रियाकलाप में इस वर्ग के बालक अन्य बालकों के समान ही होते हैं। इनमें किसी भी प्रकार का मानसिक पिछड़ापन नहीं होता साथ ही इनमें किसी भी प्रकार का दृष्टि- दोष एवं श्रवण-दोष भी नहीं पाया जाता लेकिन उनको पठन, लेखन, वर्तनी की शुद्धता तथा गणित के प्रश्न हल करने आदि की समस्याएँ होती हैं। ये सभी प्रक्रिया सम्बन्धी समस्याएँ मनोवैज्ञानिक कारणों का परिणाम होती हैं। सीखने, बोलने, समझने तथा गणित के प्रश्न आदि हल करने में अधिक कठिनाई होती है। ये सभी कठिनाइयाँ इनमें कोई कमी अथवा संवेगात्मक।अथवा व्यवहार विषयक कमी के कारण होती हैं। ये कठिनाइयाँ केवल मानसिक कमी के।कारण बिल्कुल नहीं होती। इनके दो प्रकार हो सकते हैं-

1.सामान्य अधिगम अक्षमता (General learning disability)-इस अधिगम अक्षमता का सम्बन्ध बालकों की उन सामान्य कमियों से होता है, जिनको प्रशिक्षण एवं प्रयत्न के माध्यम से सुधार कर उनको सामान्य बालकों की श्रेणी में लाया जा सकता है। प्रारम्भिक काल में इन बालकों को आधारभूत अधिगम सम्बन्धी कौशल सिखाने में अनेक समस्याओं से जूझना पड़ता है। अधिगम के एक अथवा दूसरे क्षेत्र में यह समस्या उत्पन्न हो सकती है परन्तु यह समस्या सामान्य श्रेणी की होती है। यदि प्रारम्भ में ज्ञात हो जाये तो बालक की सहायता की जा सकती है। यह काम उसे उचित प्रशिक्षण देकर और अभ्यास के द्वारा सम्पन्न किया जा सकता है। चूंकि उनकी समस्या सामान्य तरह की होती है। अत: उनको सामान्य विद्यालयों की ऊँची कक्षाओं में भी एकीकृत किया जा सकता है। इसके लिये पाठ्यक्रम में सामान्य प्रकार का परिवर्तन करना होता है।

ये भी पढ़ें-  मुगलकालीन शिक्षा की विशेषताएं | मुगलकालीन शिक्षा के गुण एवं दोष | मकतब क्या हैं

2. जटिल अधिगम अक्षमता (Serious learning disability)-इस श्रेणी में उन बालकों की गिनती की जाती है, जिनको आधारभूत अधिगम कौशल प्राप्त करने में भी कठिनाई होती है; जैसे-लेखन, वाचन एवं पठन आदि । यह समस्या उनके मस्तिष्क में किसी भी विकार अथवा पर्यावरणीय विषयक अभाव के कारण हो सकती है। इन बालकों को विद्यालय में एकीकृत करने में बहुत अधिक समस्या का सामना करना पड़ता है।


आपके लिए महत्वपूर्ण लिंक

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण हिंदी कोर्स

टेट / सुपरटेट सम्पूर्ण बाल मनोविज्ञान कोर्स

50 मुख्य टॉपिक पर  निबंध पढ़िए

Final word

आपको यह टॉपिक कैसा लगा हमे कॉमेंट करके जरूर बताइए । और इस टॉपिक अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार को अपने मित्रों के साथ शेयर भी कीजिये ।

Tags  – अधिगम अक्षमता का अर्थ एवं परिभाषाएं,अधिगम अक्षमता का अर्थ,अधिगम अक्षमता की परिभाषाएं,अधिगम अक्षमता वाले बालकों की विशेषताएँ,Charaeteristics of Learning Disabled Children,अधिगम अक्षमता वाले बालकों के प्रकार,Types of Learning Disabled Children,अधिगम अक्षम वाले बालकों की विशेषताएं / अधिगम अक्षम वाले बालकों के प्रकार

Leave a Comment