छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण | chhappay chhand in hindi | छप्पय छंद के उदाहरण

दोस्तों हमारा आज का टॉपिक छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण | chhappay chhand in hindi | छप्पय छंद के उदाहरण है। हमे अनेक परीक्षाओं में छंदों से संबंधित प्रश्न आते हैं,जिनमे छंद के उदाहरण या उदाहरण देकर छंद का नाम पूछा जाता है। इसलिए hindiamrit.com आज आपको इस टॉपिक की विधिवत जानकारी देगा।


छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण | chhappay chhand in hindi | छप्पय छंद के उदाहरण

Tags – छप्पय छंद की परिभाषा उदाहरण सहित,छप्पय छंद की परिभाषा उदाहरण,छप्पय छंद की परिभाषा उदाहरण सहित लिखिए,छप्पय छंद की परिभाषा उदाहरण सहित बताइए,छप्पय छंद की परिभाषा उदाहरण सहित समझाइए,छप्पय छंद की परिभाषा एवं उदाहरण,छप्पय छंद की परिभाषा व उदाहरण,छप्पय छंद की परिभाषा,छप्पय छंद की परिभाषा बताइए,छप्पय छंद के उदाहरण बताइए,chhappy chhand example in hindi,chhappay chhand ka udaharan,छप्पय छंद के उदाहरण दीजिए,छप्पय छंद के 10 उदाहरण,छप्पय छंद उदाहरण सहित,छप्पय छंद के उदाहरण सरल,छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण,chhappay chhand in hindi,छप्पय छंद के उदाहरण,






छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण | chhappay chhand in hindi | छप्पय छंद के उदाहरण

हमने आपको इस टॉपिक में क्या क्या पढ़ाया है?

(1) छप्पय छंद की परिभाषा
(2) छप्पय छंद के नियम | छप्पय छंद पहचानने का तरीका
(3) छप्पय छंद के उदाहरण स्पष्टीकरण सहित
(4) छप्पय छंद के अन्य उदाहरण

ये भी पढ़ें-  उदाहरण अलंकार किसे कहते हैं - परिभाषा,उदाहरण | udaharan alankar in hindi

छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण | chhappay chhand in hindi | छप्पय छंद के उदाहरण
छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण | chhappay chhand in hindi | छप्पय छंद के उदाहरण



छप्पय छंद की परिभाषा | छप्पय छंद किसे कहते हैं

यह छः पंक्तियों का छन्द होता है। इसमें चार चरण रोला के + दो चरण उल्लाला के होते है। प्रथम चरण में 24-24 मात्रा और अंतिम में 28-28 मात्रा होता है। चूंकि रोला में 24 मात्रा और उल्लाला में 28 मात्रा होता है।

अतः छप्पय = 6 पंक्तियाँ  = 4 लाइन रोला + दो लाइन उल्लाला

छप्पय छंद के नियम | छप्पय छंद पहचानने का तरीका

(1) कुल 6 चरण होते हैं।

(2) प्रथम के 4 चरण में रोला होता है। तथा अंतिम के दो चरण में उल्लाला होता है।






छप्पय छंद के उदाहरण स्पष्टीकरण सहित

(1) जिसकी रज में लोट, लोट कर बड़े हुए है।
      घुटनों के बल सरक, सरक कर खड़े हुए है।
      परम हंस सम बाल्य, काल सब सुख पाए।
      जिसके कारण धूल मरे हीरे कहलाए।
       हम खेल कूदे हर्ष युत, जिसकी प्यारी गोद में
      हे मातृ भूमि तुझको निरखि, मगन क्यों न हों मोद में।

स्पष्टीकरण –

जिसकी  रज  में  लोट,  लोट  कर  बड़े  हुए  है।
I I S      I I   S    S I    S I    I I   I S   I S  S = 24                              

घुटनों  के  बल  सरक,  सरक  कर  खड़े  हुए   है।
I I S    S  I I   I I I      I I I    I I    I S    I S   S  = 24                                 

परम  हंस  सम  बाल्य,  काल  सब  सुख  पाए।
I I I   S I   I I   S I S      S I    I I     I I     S S = 24                                     

जिसके  कारण  धूल  मरे  हीरे   कहलाए।
I I S    S I I     S I  I S   SS   I I S S = 24                                          

हम  खेल  कूदे  हर्ष    युत, जिसकी  प्यारी  गोद  में
I I  S I    SS  I S   I I    I I S      I S S   S I   S = 28                                            

हे  मातृ  भूमि  तुझको  निरखि,  मगन  क्यों  न   हों    मोद    में।
I  S I      S I     I I S    I I I       I I I    I S    I    S    SI   S = 28                                                   
    

ये भी पढ़ें-  हिंदी में क्रिया - परिभाषा,उदाहरण | क्रिया के प्रकार || kriya in hindi

अतः यहाँ पर छप्पय छंद है।

छप्पय छंद के अन्य उदाहरण

(1) जहाँ स्वतंत्र विचार न बदलें मन में मुख में,
      जहाँ न बाधक बनें सबल निबलों के सुख में।
      सबको जहाँ समान निजोन्नति का अवसर हो,
      शान्तिदायिनी निशा, हर्षसूचक वासर हो।
      सब भाँति सुशासित हो जहाँ, समता के सुखकर नियम।
      बस उसी स्वशासित देश में, जागें हैं जगदीश हम।।






आप अन्य छंद भी पढ़िये

» दोहा छंद  » चौपाई छंद  » सोरठा छंद  » बरवै छंद   » कुण्डलिया छंद    » छप्पय छंद    » रोला छंद  » वीर/आल्हा छंद  » उल्लाला छंद  » गीतिका छंद » हरिगीतिका छंद  





★  छंद की परिभाषा ,छंद के अंग ,छंद के भेद आदि पढ़िये इसे टच करके।।

सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण पढ़िये ।

» भाषा » बोली » लिपि » वर्ण » स्वर » व्यंजन » शब्द  » वाक्य » वाक्य शुद्धि » संज्ञा » लिंग » वचन » कारक » सर्वनाम » विशेषण » क्रिया » काल » वाच्य » क्रिया विशेषण » सम्बंधबोधक अव्यय » समुच्चयबोधक अव्यय » विस्मयादिबोधक अव्यय » निपात » विराम चिन्ह » उपसर्ग » प्रत्यय » संधि » समास » रस » अलंकार » छंद » विलोम शब्द » तत्सम तत्भव शब्द » पर्यायवाची शब्द » शुद्ध अशुद्ध शब्द » विदेशी शब्द » वाक्यांश के लिए एक शब्द » समानोच्चरित शब्द » मुहावरे » लोकोक्ति » पत्र » निबंध

बाल मनोविज्ञान चैप्टरवाइज पढ़िये uptet / ctet /supertet

Uptet हिंदी का विस्तार से सिलेबस समझिए

हमारे चैनल को सब्सक्राइब करके हमसे जुड़िये और पढ़िये नीचे दी गयी लिंक को टच करके विजिट कीजिये ।

ये भी पढ़ें-  बालक का संवेगात्मक विकास emotional development in child

https://www.youtube.com/channel/UCybBX_v6s9-o8-3CItfA7Vg

दोस्तों आशा करता हूँ आपको यह आर्टिकल पसन्द आया होगा । हमें कॉमेंट करके बताइये की छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण | chhappay chhand in hindi | छप्पय छंद के उदाहरण आपको कैसा लगा तथा इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कीजिये ।


Tags – Chhappay chhand hindi grammar,छप्पय छंद के सरल उदाहरण,छप्पय छंद हिंदी व्याकरण,छप्पय छंद के उदाहरण बताइए,छप्पय छंद का आसान उदाहरण,छप्पय छंद की परिभाषा,छप्पय छंद का एक उदाहरण,छप्पय छंद का उदाहरण और परिभाषा,छप्पय छंद की परिभाषा उदाहरण सहित समझाइए,छप्पय छंद का उदाहरण बताओ,छप्पय छंद का सरल उदाहरण बताइए,छप्पय छन्द हिंदी ग्रामर,छप्पय छंद की परिभाषा और उदाहरण,chhappay chhand in hindi,छप्पय छंद के उदाहरण,

Leave a Comment